चेन्नई, एएनआइ। भारतीय अंतरिक्ष अनुंसधान संगठन (ISRO) ने  एक और मिशन पर जीत हाशिल कर ली। राडार इमेजिंग अर्थ ऑब्जर्वेशन सेटेलाइट (रिसैट-2बी) के साथ प्रक्षेपित होने जा रहे भारत के पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी) को लॉन्च कर दिया गया। इसरो के एक अधिकारी ने बताया कि रिसैट-2बी का प्रक्षेपण पीएसलवी-सी 46 से किया गया है। पीएसलवी-सी 46 श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सुबह 5:30 बजे प्रक्षेपित किया गया।

प्रक्षेपण के दौरान रॉकेट अपने साथ 615 किलोग्राम रिसैट-2 बी को ले गया है। रीसैट-2 के लगभाग सात साल बाद रीसैट-2बी को प्रक्षेपित किया गया है। प्रक्षेपण के 15 मिनट बाद रॉकेट रिसैट-2 बी को लगभग 555 किलोमीटर दूर वाली कक्षा में स्थापित कर दिया।

इसरो के अनुसार रिसैट-2 बी का उपयोग कृषि क्षेत्र, वन विज्ञान और आपदा प्रबंधन में किया जाएगा। इसके साथ ही देश की आंतरिक सुरक्षा एवं आपदा राहत कार्य में लगे लोगों सुरक्षाबलों को रिसैट-2 बी से काफी मदद मिलेगी।

बता दें कि इसरो भविष्य में रिसैट जैसे छह और नए उपग्रह प्रक्षेपित करने की योजना बना रहा है। इनमें रिसैट -2 बी के बाद रिसैट-1ए, रिसैट 2ए, रिसैट-2बीआर1, रिसैट-2बीआर2, और रिसैट-1बी प्रमुख उपग्रह हैं।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh