मुंबई, एजेंसी। फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले में ड्रग एंगल की जांच कर रही एनसीबी की टीम पूरे एक्शन में है। इस केस में रिया चक्रवर्ती, भाई शौविक चक्रवर्ती और सैमुअल मिरांडा समेत कई लोगों पर शिकंजा कसने के लिए एनसीबी लगातार छापेमारी कर रही है। इसी के तहत कार्रवाई करते हुए एनसीबी ने मुंबई से चार और ड्रग पैडलर्स को भी हिरासत में लिया है। इससे पहले हिमाचल प्रदेश के ड्रग पैडलर राहिल विश्राम को 1 किलो चरस के साथ पकड़ा गया। एनसीबी ने उसके पास से 4.5 लाख रुपये नकद भी जब्त किया है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के ज़ोनल डायरेक्टर ने बताया कि राहिल का सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले से संबंधित अन्य पैडलर्स से सीधा संपर्क है।

वहीं, सुशांत की पूर्व मैनेजर दिशा सालियन की मौत पर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि मौत से पहले दिशा ने 100 नंबर पर कॉल किया था। जिसपर मुंबई पुलिस की तरफ से बयान आया है। पुलिस के एक अधिकारी की तरफ से कहा गया है कि दिशा सालियन के फोन से आखिरी कॉल उनकी दोस्त अंकिता को की गई थी। उसके आखिरी बार 100 नंबर डायल करने का जो दावा किया जा रहा है, वह गलत है। दिशा सालियन 8 जून को मुंबई में मृत पाई गई थी।

ड्रग मामले में कई गिरफ्तार

इससे पहले एनसीबी सुशांत केस में ड्रग से जुड़े दो और लोगों को गिरफ्तार किया था। इसमे से एक शौविक का दोस्त जयदीप मल्होत्रा है, जिसे 18 सितंबर तक एनसीबी की हिरासत में सौंप दिया गया है। जबकि एनसीबी की टीम ने गोवा में छापा मारकर क्रिस कोस्टा को दबोचा। मुंबई लाकर उसकी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेशी कराई गई। उसे 17 तक एनसीबी के हवाले किया गया है। इन दोनों को मिलाकर एनसीबी इस मामले में अब तक 19 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

श्रुति मोदी से अभी पूछताछ नहीं

वहीं, एनसीबी के एक सदस्य के कोरोना संक्रमित होने की वजह से श्रुति मोदी से पूछताछ नहीं हो सकी। सुशांत की पूर्व मैनेजर श्रुति को एनसीबी ने टैलेंट मैनेजर जया साहा के साथ तलब किया था। एसआइटी उससे पूछताछ शुरू ही करने वाली थी तभी टीम के एक सदस्य के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट आ गई। इस पर टीम के सभी अन्य सदस्यों की कोरोना जांच कराने का फैसला किया गया। एनसीबी के एक अधिकारी ने बताया कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए श्रुति को बिना पूछताछ के लौटा दिया गया।

रिया की एफआइआर पर कानूनी राय ले रही सीबीआइ

रिया चक्रवर्ती द्वारा सुशांत सिंह की दो बहनों प्रियंका, मीतू और दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टर तरुण कुमार के खिलाफ मुंबई के बांद्रा थाने में दर्ज कराई गई एफआइआर पर सीबीआइ कानूनी परामर्श ले रही है। डॉक्टर पर सुशांत के लिए घबराहट के इलाज के लिए फर्जी नुस्खा लिखने का आरोप लगाया गया है। सीबीआइ सूत्रों के अनुसार, एजेंसी जल्द ही इस मामले में कोई निर्णय लेगी। किसी निर्णय पर पहुंचने के लिए सभी पहलुओं को समझने के लिए वह कानून के जानकारों से राय लेना जरूरी समझ रही है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस