नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच का सामना कर रही अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि राजनीतिक कारणों से सुशांत की मौत को तूल दिया जा रहा है। रिया ने कोर्ट से संरक्षण की गुहार लगाते हुए कहा है उसे 'राजनीतिक एजेंडे के लिए बलि का बकरा न बनाया जाए।'

रिया ने यह भी कहा है कि बिहार पुलिस को मामले की जांच करने का कानूनन अधिकार नहीं है ऐसे में वह जांच सीबीआइ को कैसे दे सौंप सकती है। रिया ने कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट मामले की जांच सीबीआइ को देता है तो उसे कोई आपत्ति नहीं है लेकिन उसमें भी मामले का क्षेत्राधिकार मुंबई का होगा, न कि पटना। रिया ने ये बातें सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किए गए हलफनामे में कही हैं।

रिया ने यह अतिरिक्त हलफनामा कोर्ट मे लंबित अपनी ट्रांसफर याचिका में दाखिल किया है। रिया की ओर से दाखिल ताजा हलफनामे में कहा गया है कि सुशांत सिंह राजपूत की दुखद मौत बिहार चुनाव के ठीक पहले हुई है। उसकी मौत को मीडिया बहुत बढ़ा-चढ़ा कर चला रहा है। मीडिया चैनल सुशांत की मौत के मामले में गवाहों का परीक्षण कर रहे हैं। सुशांत की मौत के पीछे कुछ साजिश थी कि नहीं यह साबित होने से पहले ही मीडिया ने उसे दोषषी ठहरा दिया।

संजय राउत पर बिहार के डीजीपी का शायराना पलटवार

इस बीच, सुशांत मामले में बिहार व महाराष्ट्र के बीच वार-पलटवार का सिलसिला चरम पर है। शिवसेना सांसद संजय राउत को बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने एक बार फिर ट्वीट कर शायराना अंदाज में जवाब दिया है। उन्होंने लिखा 'सर में मुश्किलें आएं, तो जुर्रत और बढ़ती है! अगर रास्ता कोई रोके तो हिम्मत और बढ़ती है! अगर दुश्मन समझ कर, मुझको कोई गाली देता है! सच कहूं उससे मुहब्बत और बढ़ती है!'

गौरतलब हो कि सुशांत के आत्महत्या मामले में शिवसेना नेता संजय राउत ने बिहार सरकार, बिहार के राजनेताओं और बिहार के डीजीपी पर कटाक्ष किया था। उन्होंने कहा था कि कुछ लोग पर्दे के पीछे पटकथा लिख रहे हैं।

Sushant Singh Rajput Case: शिवसेना के नेता Sanjay Raut का बड़ा बयान, पिता की दूसरी शादी से खुश नहीं थे Sushant – Watch Video

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस