नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। लॉकडाउन की अवधि 21 दिन किए जाने के बाद अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध की अवधि को भी 14 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया गया है। नागर विमानन नियामक डीजीसीए ने बृहस्पतिवार को इसका एलान किया। घरेलू यात्री उड़ानें फिलहाल 31 तक ही बंद हैं। उन पर प्रतिबंध की अवधि बढ़ाने का ऐलान अभी नहीं किया गया है। देश में कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए पीएम मोदी ने देश में 21 दिनों यानि 14 अप्रैल तक लैकडाउन की घोषणा की है। इसमें सड़क, रेल और अंतरराष्‍ट्रीय व घरेलू उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। 

इससे पहले 29 मार्च तक किया गया था प्रतिबंधित 

इससे पहले डीजीसीए ने 19 मार्च को भारत में सभी अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री उड़ानों पर 23 मार्च प्रात: डेढ़ बजे से लेकर 29 मार्च को प्रात: साढ़े पांच बजे तक प्रतिबंधित किए जाने की घोषणा की थी। उसी प्रतिबंध को आगे बढ़ाते हुए बृहस्पतिवार को डीजीसीए ने ऐलान किया कि, '19 मार्च, 2020 के उक्त सर्कुलर के क्रम में इस बात का निर्णय लिया गया है कि समस्त अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल यात्री उड़ान सेवाएं 14 अप्रैल, 2020 को 18:30 जीएमटी अर्थात भारतीय मानक समय के अनुसार रात 00:00 बजे तक बंद रहेंगी।''

घरेलू उड़ानों पर नहीं लिया गया फैसला 

हालांकि ये प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय कार्गो आपरेशंस तथा डीजीसीए द्वारा विशेष रूप से अनुमोदित उड़ानों पर लागू नहीं होगा।'सरकार ने 24 मार्च को रात 23:59 बजे से 31 मार्च 23:59 बजे तक के लिए घरेलू या डोमेस्टिक उड़ानों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया था। डोमेस्टिक उड़ानों पर प्रतिबंध को अभी इससे आगे बढ़ाने का ऐलान नहीं किया गया है। यानी अब देश भी पूरी दुनिया से आइसोलेट है और अधिकतर शहर भी।

ज्ञात कि भारत में कोरोना वायरस के करीब 625 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं और देश में अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत ने भी कोरोना वायरस के कारण 15 अप्रैल तक विदेश से आने वालों का वीजा रद कर दिया है लेकिन राजनयिकों को इससे छूट दी गई है। सरकार ने नई एडवाइजरी जारी करके भारतीयों को विदेश नहीं जाने की सलाह दी है।

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस