श्रीनगर, एएनआइ। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म हुए एक महीने से ज्यादा हो गया है। धीरे-धीरे घाटी में हालात भी सामान्य हो रहे हैं। इस बात की पुष्टि अब खुद जम्मू कश्मीर के सूचना और जनसंपर्क विभाग की तरफ से की गई है। इस विभाग की तरफ से आए बयान में कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर में लगाए सभी प्रतिबंध हटा लिए गए हैं।

इसके अलावा राज्य में कुपवाड़ा और हंदवाड़ा में मोबाइल फोन सेवा काम कर रही है। साथ ही राज्य में अब चहल-पहल भी नजर आ रही है। गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के दौरान जम्मू कश्मीर में हाई अलर्ट था, ताकि राज्य में किसी भी तरह की हिंसा ना हो पाए। 

पाक लगातार कर रहा फैसले का विरोध
जम्मू कश्मीर के विशेष राज्‍य के दर्जे को खत्‍म करने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और इसे स्वीकार नहीं कर पा रहा है। पाक की ओर से लगातार इसका विरोध हो रहा है। पाक इस फैसला का विरोध अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कर चुका है, लेकिन उसे वहां भी मुंह की खानी पड़ी। ज्‍यादातर देशों ने कहा कि ये भारत और पाकिस्तान का आंतरिक मामला है। वहीं कई इस्लामिक संस्थाएं भी इस फैसले का स्वागत कर चुकी हैं, लेकिन पाक अभी तक इस फैसले को मानने को राजी नहीं है। 

परमाणु हमले की दे चुका है धमकी
पाकिस्तान इतना बौखलाया हुआ है कि वह लगातार घाटी में हिंसा होने की झूठी खबरें फैला चुका है। इसके अलावा पाकिस्तान की तरफ से यह भी कहा गया था कि अब भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध हो सकता है।चीन के अलावा कोई भी देश पाकिस्‍तान के साथ इस मुद्दे पर साथ खड़ा नजर नहीं आ रहा है।

यह भी पढ़ें: भारत की आर्थिक वृद्धि की रफ्तार उम्मीद से बहुत धीरे: अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस