अलीगढ़ (जेएनएन)।  एएमयू में पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर एक बार फिर माहौल गर्मा गया है। यूनिवर्सिटी की मौलाना आजाद लाइब्रेरी में दो अक्टूबर पर गांधी जी से जुड़ी किताब, तस्वीर, पत्र आदि पर दो दिवसीय प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था। प्रदर्शनी में जिन्ना के साथ महात्मा गांधी की तस्वीर को रखा गया था। इस तस्वीर को लेकर गुरुवार को हंगामा हो गया। एएमयू इंतजामिया ने नोटिस भेजकर जवाब मांगा है।

लाइब्रेरियन को कारण बताओ नोटिस
गुरुवार को कुछ मीडिया कर्मी एएमयू की लाइब्रेरी पहुंच गए। इन लोगों ने जिन्ना की तस्वीर लगाए जाने के बारे में पूछा तो वहां कर्मचारियों के साथ कुछ छात्र वहां आ गए, इससे हंगामा हो गया। इंतजामिया ने गांधी जी के साथ जिन्ना की तस्वीर लगाने पर लाइब्रेरियन डॉ. अमजद अली को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। लाइब्रेरियन का कहना है कि हर साल प्रदर्शनी में ये तस्वीर लगाई जाती रही है। फिर इस बार क्यों नोटिस दिया गया है।

पांच माह पहले हुआ था विवाद
एएमयू छात्रसंघ के यूनियन हॉल में पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर पहले भी विवाद हुआ था। तस्वीर उतरवाने और लगाने जाने का कारण पूछते हुए सांसद सतीश गौतम ने कुलपति प्रो. तारिक मंसूर को पत्र लिखा था। दो मई-2018 को हिंदू वादी नेता व एएमयू छात्रों के बीच यूनिवर्सिटी के मुख्य गेट बॉबे सैयद पर टकराव हो गया था। इसको इसको लेकर छात्र-छात्राओं ने बॉबे सैयद गेट पर धरना प्रदर्शन किया था।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप