नई दिल्‍ली, जागरण स्‍पेशल। हर साल की तरह 26 जनवरी, रविवार को 71वां गणतंत्रता दिवस मनाया जा रहा है। इसके लिए अंतिम तैयारियां चरम पर हैं ताकि बिना किसी रुकावट और बाधा के राजपथ पर राष्‍ट्रीय दिवस समारोह संपन्‍न हो सके। इस मौके पर देश की राजधानी दिल्‍ली में राजपथ से लाल किला तक परेड निकाली जाएगी।

दिल्‍ली ट्रैफिक पुलिस की एडवाइजरी

गणतंत्र दिवस के मौके पर यातायात के लिए दिल्‍ली ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। इसके अनुसार, शनिवार सुबह 11 बजे से राजपथ पर नो क्रॉस- ट्रैफिक यानि यातायात को पूरी तरह बंद कर दिया गया है। साथ ही रफी मार्ग, जनपथ, मानसिंह रोड पर भी ट्रैफिक की अनुमति नहीं है। यह आदेश रविवार को परेड खत्‍म हो जाने तक जारी रहेगा। इंडिया गेट को 26 जनवरी की सुबह 2am से परेड के खत्‍म हो जाने तक बंद रखा जाएगा। तिलक मार्ग, BSZ मार्ग और सुभाष मार्ग पर भी 26 जनवरी की सुबह पांच बजे से यातायात को अनुमति नहीं दी गई है।

पहली बार-

इस बार गणतंत्र दिवस परेड में काफी कुछ विशेष और नया है।

- पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन बल अपनी झांकी प्रस्‍तुत करेगा।

- पहली महिला परेड एडज्‍यूटेंट के तौर पर इस बार कैप्‍टन तान्‍या शेरगिल हैं। हाल में ही आर्मी डे परेड का नेतृत्‍व इन्‍होंने ही किया था।

- इसके अलावा पहली बार वायु सेना की नई अपाचे ओर चिन्‍हुक हेवी लिफ्ट हेलीकॉप्‍टर का प्रदर्शन होगा।

कई मार्गों पर डायवर्जन

गणतंत्र दिवस पर रूट डायवर्जन को लेकर पुलिस द्वारा किए गए इंतजामों को लेकर ट्रैफिक एडवाइजरी जारी किया गया है। इसके अलावा यहां अलर्ट भी जारी कर दिया गया है। शनिवार शाम 6 बजे के बाद से रविवार को परेड खत्‍म होने तक विजय चौक से इंडिया गेट तक राजपथ पर ट्रैफिक की अनुमति नहीं होगी। रविवार को दोपहर 12 बजे तक राजपथ बंद रहेगा। सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया, मेट्रो स्‍टेशनों, रेलवे स्‍टेशनों, एयरपोर्ट और बस टर्मिनल पर सुरक्षा व्‍यवस्‍था सख्‍त कर दी गई है। इलाके में गश्‍ती शुरू कर दी गई है। वाहनों की जांच की जा रही है।

वैकल्‍पिक मार्गों को अपनाने की अपील

जिन रास्‍तों को बंद किया गया है उसके लिए उपलब्‍ध कराए गए दूसरे वैकल्पिक मार्गों को अपनाने की अपील की गई है। पुलिस के अनुसार, नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर के लिए रिंग रोड, आश्रम चौक, सराय काले खां, आईपी फ्लाईओवर, राजघाट का इस्तेमाल किया जाए। मदरसा से लोधी रोड टी-पॉइन्ट, अरबिंदो मार्ग, एम्स चौक, रिंग रोड, धौलाकुआं, वंदे मातरम मार्ग, शंकर रोड, पार्क स्ट्रीट के साथ मंदिर मार्ग को भी अपना सकते हैं।

सुरक्षा व्‍यवस्‍था में ड्रोन की भी तैनाती

दिल्‍ली पुलिस ने राष्‍ट्रीय राजधानी में सुरक्षा के खास इंतजाम किए हैं। पुलिस ने फेशियल रिकग्‍निशन सिस्‍टम और ड्रोन की सेवाएं ली हैं। इसके अलावा 10,000 सुरक्षा जवानों को मुस्‍तैद किया गया है। बता दें कि ब्राजील के राष्‍ट्रपति जैर बोल्‍सोनारो इस साल गणतंत्र दिवस पर मुख्‍य अतिथि हैं। गणतंत्र दिवस का परेड और विशेष सुरक्षा व्‍यवस्‍थाओं को लेकर खास इंतजाम किए गए हैं। यह जानकरी नई दिल्‍ली के DCP एश सिंघल (Eish Singhal) ने दी। सिंघल ने कहा, आंतरिक, मध्‍य, बाहरी और सीमा क्षेत्रों के आस-पास चार लेयर की सुरखा व्‍यवस्‍था का इंतजाम है। करीब 5000 से 6000 दिल्‍ली पुलिस के जवान तैनात हैं।

सैंकड़ों सीसीटीवी कैमरे कर रहे निगहबानी

राजपथ से लाल किला तक के 8 किमी लंबे परेड मार्ग पर नजर रखने के लिए ऊंची बिल्‍डिंग पर निशाने बाजों को तैनात किया गया। लाल किला, चांदनी चौक और यमुना खादर पर लगाए गए 150 सीसीटीवी कैमरों समेत पूरे परेड मार्ग पर सैंकड़ों सीसीटीवी कैमरे भी इंस्‍टॉल किए गए हैं।

मेट्रो स्‍टेशनों की बढ़ी सुरक्षा व्‍यवस्‍था

दिल्‍ली मेट्रो ने केंद्रीय सचिवालय, रेस कोर्स, पटेल चौक और उद्योग भवन मेट्रो स्टेशन को रविवार सुबह 5 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक बंद का ऐलान किया है। DMRC ने सभी मेट्रो स्‍टेशनों पर गणतंत्र दिवस के एक सप्‍ताह पहले ही सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ा दी थी। 26 जनवरी, रविवार को मेट्रो सेवाएं सुबह 6 बजे से शुरू हो जाएगी। पुलिस ने होटल, टैक्‍सी और ऑटो चालकों को सतर्क रहने को कहा है। राजपथ के साथ राष्‍ट्रपति भवन में भी कड़ी सुरक्षा के प्रबंध हैं। इसके साथ ही DMRC ने पार्किंग स्‍थल को भी 25 जनवरी, शनिवार सुबह 6 बजे से लेकर 26 जनवरी, रविवार को दोपहर दो बजे तक बंद कर दिया है।

Bengaluru: समारोह के लिए कड़ी सुरक्षा व्‍यवस्‍था

गणतंत्र दिवस समारोहों को लेकर बेंगलुरु में सुरक्षा व्‍यवस्‍था कड़ी की गई है। इसके तहत फील्‍ड मार्शल सैम मानेकशॉ परेड ग्राउंड में अतिरिक्‍त सैन्‍य बल की तैनाती की गई है। यह जानकारी बेंगलुरु पुलिस कमिश्‍नर भास्‍कर राव ने दी। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से शहर व राज्‍य पुलिस को सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ाने और कानून व्‍यवस्‍था के रख रखाव के लिए निर्देश दिए गए हैं ताकि गणतंत्रता दिवस को शांतिपूर्ण तरीके से मनाया जा सके। यहां के गवर्नर वजूभाइ वाला राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराएंगे।

परेड के बाद निकाली जाती है झांकियां

गणतंत्र दिवस के मौके पर ध्वषजारोहण के दौरान हर साल राष्ट्रीय झंडे व राष्ट्रपति को 21 बंदूकों की सलामी दी जाती है। इस बार के लिए रक्षा मंत्रालय ने 56 प्रस्तावों में से 22 झांकियों का चयन किया है। बता दें कि इस मौके पर निकाले जाने वाले परेड के दौरान मंच पर मौजूद तमाम गणमान्य को सलामी दी जाती है। इसके अलावा समारोह का अहम हिस्सा घोड़ों की परेड होती है। इवेंट का हिस्सा एनसीसी (National Cadet Corps) और चयनित स्काउट होते हैं। परेड के बाद विभिन्न राज्यों व संगठनों की झांकियां निकाली जाती हैं। इसके अलावा मिलिट्री बाइक शो भी आयोजित किए जाते हैं। कुन्नूर में इस मौके पर पहली बार विशेष होगी क्योंकि कुल 11 दिव्यांग बच्चे इस बार अपना स्पेशल बैंड परफार्मेंस देंगे।

यह भी पढ़ें: Republic Day: गणतंत्र दिवस के मौके पर वीर जवानों को किया जा रहा है शौर्य चक्र से सम्मानित

Republic Day 2020: पहले गणतंत्र दिवस की परेड में विशेष आकर्षण था 'फ्लाई पास्ट'

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस