नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली से महज 125 किमी दूर शामली जिले का कैराना कस्बा सुर्खियों में है। बताया जा रहा है कि 346 से ज्यादा हिंदूओं का परिवार एक संप्रदाय विशेष के आतंंक से परेशान होकर अपने ही देश में विस्थापित हो चुका है। हिंदूओं के परिवार आतंक के साए में जी रहे हैं। इन खबरों के बाद सर्वधर्म संसद के अंतरराष्ट्रीय संयोजक आचार्य डॉ लोकेश मुनि के नेतृत्व में धर्माचार्य कल कैराना का दौरा करेंगे।

सर्वधर्म संसद की अगुवाई में धर्माचार्यों का दल न केवल जमीनी हालात का जायजा लेगा, बल्कि सर्वधर्म समभाव और आपसी सद्भाव के लिए स्थानीय लोगों से मुलाकात करेगा। सर्वधर्म संसद से राष्ट्रीय संयोजक गोस्वामी सुशील जी महाराज, हिंदू समाज की तरफ से स्वामी दीपांकर शामिल होंगे।

,

मुस्लिम समाज की तरफ से अखिल भारतीय इमाम संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमाम उमर अहमद इलियासी, सिख समाज की तरफ से बंगला साहिब गुरुद्वारा कमेटी के चेयरमैन परमजीत सिंह चंडौक और ईसाई समाज की तरफ से फॉदर बीनटो रोड्रिक शांमिल होंगे।

कैराना से हिंदुओं को पलायन चिंताजनक-शंकराचार्य

346 हिन्दू परिवारों के पलायन की चर्चाओं के बीच सर्वधर्म संसद का शिष्टमंडल वहां की प्रमाणिक जानकारी प्राप्त करने एवं ऐतिहासिक कैराना में पुन: साम्प्रदायिक सौहार्द एवं भाईचारे की स्थापना के उद्देश्य से वहां जा रहा है| यह बात चर्चा में है कि हिन्दू समुदाय के लोगों से रंगदारी एवं फिरौती मांगते है और मना करने पर उनकी हत्या कर दी जाती है|

इस मुद्दे पर सर्व धर्म संसद का कहना है कि देश के हर कोने में साम्प्रदायिक सद्भावना की स्थापना करना जरूरी है| विकास के लिए एकता और शांति आवश्यक है | सभी धर्म, समुदाय, जाति एवं प्रान्त के लोग जब एकजुट होकर रहेंगे और काम करेंगे तभी समाज व देश का विकास हो सकता है|

कैराना की जमीनी हालात पर जमकर सियासत भी हो रही है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि सुनियाोजित साजिश के तहत कैराना को कश्मीर बनाने की साजिश रची जा रही है। भाजपा का आरोप है कि 2011 की जनगणना में कैराना में हिंदू समाज बहुसंख्यक था। लेकिन अब ये समाज एक खास वर्ग का निशाना बन चुका है। कैराना में हिंदू समाज अब अल्पसंख्यक हो चुका है। भाजपा के आरोपों पर सफाई देते हुए उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार का कहना है कि मुद्दाविहीन भाजपा विधामनसभा चुनावों को ध्यान में रखकर कैराना और प्रदेश का माहौल खराब कर रही है।

हकीकत जानने को कैराना के परिवार के पलायन का सत्यापन

Posted By: Lalit Rai