नई दिल्ली, पीटीआइ। अनिल अंबानी के नेतृत्व वाले रिलांयस ग्रुप ने गुरुवार को कहा कि वह 'झूठे और बदनाम करने वाले बयानों' के लिए कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी के खिलाफ 5,000 करोड़ का मानहानि का मुकदमा दायर करेगा।

रिलांयस ग्रुप के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। इससे पहले सिंघवी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर जनता को यह कहकर मूर्ख बनाने का आरोप लगाया कि किसी भी बड़े कर्ज नहीं चुका सकने वाले का ऋण माफ नहीं किया गया है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकार ने जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वाले लोगों का 1.88 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है।

उन्होंने कहा, 'हम सभी जानते हैं कि शीर्ष 50 कारपोरेट घरानों पर बैंकों का 8.35 लाख करोड़ रुपये बकाया हैं और इसमें से तीन लाख करोड़ गुजरात स्थित तीन शीर्ष कंपनियों (रिलांयस-अनिल अंबानी ग्रुप, अडानी और एस्सार) के पास हैं। इनमें से एक ने पिछले महीने ही सार्वजनिक रूप से घोषणा की थी कि वे बैंकों की 45 हजार करोड़ रुपये की देनदारी के साथ टेलीकॉम का अपना कारोबार बंद कर रही है। हम वित्त मंत्री से पूछना चाहते हैं कि इसे गैर निष्पादक संपत्तियां (एनपीए) घोषित करने की बजाय आप डिफाल्टर को राफेल जैसे रक्षा सौदे का कांट्रेक्ट देकर उसकी मदद क्यों कर रहे हैं?'

यह भी पढ़ें: रिलायंस जियो कंपनी पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना 

Posted By: Tilak Raj