मुंबई, आइएएनएस। वेलेंटाइन डे की पूर्व संध्या पर जाने-माने उद्योगपति रतन टाटा ने अपनी 'लव स्टोरी' साझा की है। रतन टाटा ने एक फेसबुक पोस्ट में बताया कि यह लॉस एंजिल्स में हुआ था जब वह कॉलेज पूरा करने के बाद एक आर्किटेक्चर कंपनी में नौकरी कर रहे थे। उन्होंने बताया कि वह बहुत अच्छा समय था और मौसम भी खूबसूरत हुआ करता था। उनके पास अपनी कार थी और वह अपनी नौकरी को काफी पसंद करते थे। यह 1960 के बाद का शुरुआती वर्ष था और उनकी उम्र 25 वर्ष के आसपास थी।

 1962 के भारत-चीन युद्ध के कारण नहीं हो सकी थी शादी

रतन टाटा ने बताया कि मुझे प्यार हो गया था और करीब-करीब शादी कर ली थी। लेकिन उसी समय मैंने अस्थायी रूप से लौटने का फैसला किया क्योंकि मैं अपनी दादी से दूर था जो सात साल से अस्वस्थ थीं। हालांकि बाद में वह इस उम्मीद में अपनी प्रेमिका के पास लौटे कि जिनके साथ वह शादी करना चाहते हैं वह उनके साथ भारत आएंगी। लेकिन 1962 में भारत-चीन युद्ध की वजह से उनके माता-पिता अब इस संबंध को आगे बढ़ाने के पक्ष में नहीं थे। लिहाजा वह संबंध टूट गया। यह सभी जानते हैं कि रतन टाटा जीवनभर अविवाहित रहे हैं और वह कहते हैं कि उन्हें इसका पछतावा नहीं है।

ये हुआ रतन टाटा का जीवन परिचय 

रतन टाटा का जन्‍म  28 दिसंबर 1937 को गुजरात के सूरत में  पारसी परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम नवल टाटा और माता का नाम सोनू टाटा था। उनके पिता ने दो शादियां की थी। उनकी सौतेली मां का नाम सिमोन टाटा था। नोएल टाटा उनके सौतेले भाई हैं। कॉर्नेल औ हार्वर्ड विश्‍वविद्यालय से उच्‍च शिक्षा प्राप्‍त करने के बाद उन्‍होंने टाटा समूह में हाथ बंटाना शुरू किया। फ‍िलवक्‍त वे टाटा संस, टाटा इंडस्ट्रीज, टाटा मोटर्स, टाटा स्टील और टाटा केमिकल्स के मानद चेयरमैन हैं। रतन टाटा टाटा स्‍टील, टाटा मोटर्स, टाटा कंसलटेंसी सर्विस, टाटा पावर, टाटा ग्‍लोबल बिवरेज, टाटा केमिकल, ताज ग्रुप और टाटा टेलीसर्विसेस के अध्‍यक्ष की जिम्‍मेदारी संभाल चुके हैं।  

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस