राज्य ब्यूरो, मुंबई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का काम देखकर देश के प्रमुख उद्योगपति रतन टाटा भी प्रभावित हुए बिना नहीं रह सके। यह जानकारी केंद्रीय सड़क परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने दी।

गडकरी शनिवार शाम मुंबई के मास्टर दीनानाथ मंगेशकर सभागार में संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक रमेशभाई मेहता के पुस्तक विमोचन समारोह में बोल रहे थे। 'विश्व का अद्वितीय संगठन: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ' नामक इस पुस्तक का विमोचन उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक ने किया। इस अवसर पर गडकरी ने कहा कि कुछ वर्ष पहले औरंगाबाद में संघ संस्थापक डॉ. हेडगेवार के नाम पर बने एक अस्पताल का उद्घाटन उद्योगपति रतन टाटा से करवाने की जिम्मेदारी उन्हें सौंपी गई थी।

शुरू में रतन टाटा इस कार्यक्रम में जाने से झिझक रहे थे। लेकिन वहां पहुंचने पर वह संघ का काम देखकर आश्चर्य में पड़ गए। उस अवसर पर रतन टाटा ने कहा कि वह सोच भी नहीं सकते कि संघ सेवा के इतने अच्छे काम कर रहा है। इस अवसर पर पुस्तक की चर्चा करते हुए उप्र के राज्यपाल राम नाइक ने कहा कि एक साथ चार भाषाओं में प्रकाशित इस पुस्तक के प्रथम कुछ अध्यायों को ही पढ़कर कहा जा सकता है कि आरएसएस दुनिया का एक अद्वितीय संगठन है।

यह भी पढ़ें: 'मन की बात' में पीएम ने दिया नारा, वीआइपी की जगह 'ईपीआइ'

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस