हिसार (भूपेश मथुरिया)। सतलोक आश्रम प्रकरण में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। रामपाल अपनी मुख्य सेविका बबीता के साथ एक कमरे में रहता था। दोनों घंटों साथ बिताया करते थे। जब दोनों साथ होते थे, तब उनके आराम में कोई भी खलल नहीं डालता था। पुलिस रिमांड के दौरान मुख्य सेविका बबीता ने यह राज खोला है।
हैरत की बात यह कि मुख्य सेविका बबीता उर्फ बेबी का पिता बलजीत भी रामपाल के मुख्य सहयोगियों में से एक है। इसके बावजूद बबीता और रामपाल एक साथ कमरे में घंटों बिताते थे। दोनों एक दूसरे के बेहद करीब थे और उनके बीच काफी मधुर संबंध थे। सर्च आपरेशन के दौरान रामपाल के कमरे से गर्भ जांचने की किट भी मिली थी। इसके बाद ही मुख्य सेविका बबीता उर्फ बेबी को गिरफ्तार किया गया।
पुलिस की मानें तो रिमांड के दौरान बबीता ने कबूला है कि वह इकलौती ऐसी महिला सेविका थी, जिस पर रामपाल आंख बंद कर विश्वास करता था। रामपाल आश्रम में होने वाले अनैतिक कार्यों के सबूत मिटाने का काम बबीता से करवाता था। पहले भी पुलिस जांच में सामने आ चुका है कि रामपाल के ऐशगाह तक चुनिंदा महिला सेविकाओं की पहुंच थी।
सर्च आपरेशन के दौरान आश्रम में मौजूद कुछ महिलाएं नग्न अवस्था में बाहर आईं थीं। उन्होंने पुलिस को बताया था कि आश्रम में उनके साथ दुराचार हुआ था। अन्य महिलाएं भी दुराचार का शिकार हुई थीं। कई दिनों तक पहनने के लिए कपड़े तक नहीं मिले थे। ज्यादातर पीडि़त महिलाएं मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्यों से आई हुई थीं।

रामपाल ने बबीता के नाम जमा कराए थे दस लाख

रामपाल के सतलोक आश्रम प्रकरण में गिरफ्तार बबीता उर्फ बेबी के नाम रामपाल ने दस लाख रुपये की एफडी कराई थी। पुलिस रिमांड के दौरान पूछताछ में रामपाल, बलजीत व बलजीत की बेटी बबीता ने यह राज उगला।
दरअसल, आरोपियों को आमने-सामने बिठाकर कई गई पूछताछ में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। उपरोक्त तीनों के अलावा अन्य दस आरोपियों को भी आमने-सामने बिठाकर पुलिस ने पूछताछ की। रामपाल द्वारा बबीता के नाम पर दस लाख रुपये जमा कराने की बात पुलिस के समक्ष तीनों द्वारा स्वीकार करने के बाद पुलिस अब बैंकों में पुष्टि करेगी और इस मामले की और गहराई तक जाएगी।

डीएसपी बरवाला ने बताया कि बबीता ने आपरेशन रामपाल के दौरान हार्ड डिस्क छिपा दी थी। उसने सात हार्ड डिस्क पुलिस को बरामद करा दी है। सात अन्य प्रशिक्षित कमांडो ने हेलमेट, लाठी और वर्दियां बरामद कराई हैं। बलजीत व बबीता ने पुलिस रिमांड के दौरान कई राज उगले हैं। रामपाल को एक साधक ने दिए थे नब्बे लाख
पुलिस को पूछताछ के दौरान यह भी पता चला कि कुरुक्षेत्र के पुरुषोत्तम नामक एक भक्त ने अपनी 10 एकड़ भूमि व कोठी बेचकर रामपाल के डेरा को नब्बे लाख रुपये दिए थे। इसने रामपाल के नाम पर अपनी जमीन व कोठी बेच डाली और पैसे यहां रामपाल के डेरे में दे दिए। यह खुलासा रिमांड अवधि के दौरान पुलिस के समक्ष आरोपियों ने किया।
पुलिस सतलोक आश्रम में आने वाले पैसे के स्रोतों को जानने का प्रयास कर रही है। पूछताछ में पता चला कि रामपाल कष्ट निवारण के नाम पर भी स्पेशल पूजा कराता था। हर सप्ताह यहां पंद्रह दिन बाद लगभग दो से तीन हजार भक्त स्पेशल पूजा कराते थे और प्रत्येक व्यक्ति से 9 हजार रुपये लिए जाते थे। आश्रम में रोजाना के चढ़ावे के अलावा नामदान देने के भी अलग से पैसे वसूले जाते थे।

पढ़ेंः आतंक के केंद्र हैं रामपाल जैसे बाबाओं के आश्रम

पढ़ेंः नरबलि मामले में रामपाल पर हत्या का केस दर्ज

Posted By: anand raj