चेन्नई, एएनआइ। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देश की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बावजूद इसके कि हमारी सीमा पर चुनौतियां हैं, देश के लोग इस बात को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि देश की सुरक्षा के साथ किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं किया जाएगा। राजनाथ सिंह ने तमिलनाडु में डीएससी कॉलेज के कार्यक्रम में बोलते हुए साफ कहा है किसी भी हाल में देश की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया जाएगा।

इस दौरान उन्होंने चीन-पाकिस्तान से लेकर पूर्वोत्तर को लेकर भी करारा जवाब दिया है। साथ ही आतंकवाद के खात्मे को लेकर भरोसा जताया है। रक्षा मंत्री ने पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए कहा कि पड़ोसी देश पाकिस्तान दो युद्ध हारने के बाद भी छद्म युद्ध (proxy war) का सहारा ले रहा है और आतंकवाद उसकी राज्य नीति का एक अभिन्न अंग बन गया है। उसने आतंकियों को हथियार, फंड और ट्रेनिंग देकर भारत को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। राजनाथ सिंह ने कहा,' अगर भारत और पाकिस्तान के बीच आज सीजफायर सफल होता है, तो यह हमारी ताकत के कारण है। राजनाथ ने कहा कि वर्ष 2019 में बालाकोट हवाई हमले से हम मजबूत हुए हैं।

चीन को दिया करारा जवाब-  रात 11 बजे सेना प्रमुख से राजनाथ सिंह ने की थी बात

पाकिस्तान के अलावा राजनाथ सिंह ने चीन को भी करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा,' भारत-चीन सीमा गतिरोध के दौरान, जब चीनी सेना आगे बढ़ने की कोशिश कर रही थी तो उस दौरान मैंने लगभग रात 11 बजे सेना प्रमुख से बात की थी। उस गंभीर स्थिति में भी हमारे बलों ने जिस तरह विवेकपूर्ण व्यवहार किया वह काबिले तारीफ है।

पूर्वोतर सीमा को नई गतिशीतलता प्रदान करते हुए विरोधियों का सामना किया

इसके अलावा पिछले राजनाथ सिंह ने कहा,' इसी तरह  पूर्वोतर क्षेत्र में भी पिछले साल सीमा पर यथास्थिति को बदलने का एकतरफा प्रयास किया गया था। वहां भी हमने एक नई गतिशीलता के साथ अपने विरोधी का सामना किया।'

अपनी जमीन से आतंकवाद को खत्म करेगा भारत- राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तमिलनाडु में रक्षा सेवा स्टाफ कालेज (DSSC, वेलिंगटन को संबोधित करते हुए कहा,' यह विश्वास कि भारत न केवल अपनी जमीन पर आतंकवाद को खत्म करेगा, बल्कि जरूरत पड़ने पर अपनी जमीन पर आतंकवाद विरोधी अभियान चलाने में भी संकोच नहीं करेगा।'

Edited By: Pooja Singh