जागरण संवाददाता, लखनऊ। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पुलिस भर्ती में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की बात कही है। इसके लिए वह सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र भी लिखेंगे। शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचे राजनाथ ने यहां पर महिला कालेज के स्थापना समारोह में यह बात कही।

केंद्रीय मंत्री ने दिल्ली में हाल ही में महिला पर एसिड फेंकने की वारदात पर कहा कि एसिड अटैक की बढ़ती घटनाओं को रोकने की दिशा में एसिड बिक्री की आनलाइन मानीटरिंग की जाएगी। इसकी शुरुआत दिल्ली से हो रही है, बाद में अन्य प्रदेशों में भी इसे लागू किया जाएगा। उन्होंने युवतियों को आत्मरक्षा की ट्रेनिंग दिए जाने की भी बात कही।

---

दाउद को लाकर दम लूंगा

गृहमंत्री ने मोस्टवांटेड आतंकी दाउद इब्राहिम के बारे में कहा कि हर हाल में उसे भारत लाया जाएगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इसके लिए कई एजेंसियों से बात चल रही है। किससे बात चल रही है, इस पर उन्होंने बोलने से इन्कार किया।

----

धर्मातरण विरोधी कानून बनना चाहिए

धर्मातरण पर जारी लगातार विरोध के बाबत राजनाथ सिंह ने कहा कि इस पर सभी राजनीतिक पार्टियों को बैठकर विचार करना चाहिए। धर्मातरण विरोधी कानून बनाया जाना चाहिए।

---

अति पिछड़ों को पृथक आरक्षण मिले

राजनाथ ने कहा कि अति पिछड़े वर्ग की जातियों को पृथक आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए। राज्य सरकार को इस वर्ग के लोगों की वर्षो से लंबित मांगों पर गंभीरता से अमल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्ष 2001 में खुद के मुख्यमंत्रित्वकाल में अति पिछड़ी जातियों की हो रही उपेक्षा को देखकर सामाजिक न्याय समिति का गठन किया। उन्होंने पृथक आरक्षण के लिए संघर्ष कर रहे लोगों को अपनी आवाज बुलंद करने को कहा।

पढ़ेंः पाकिस्तान दाऊद को करे भारत के हवालेः राजनाथ

पढ़ेंः दाउद की हर गतिविधि पर सरकार की नजर : राजनाथ सिंह

Edited By: manoj yadav