नई दिल्ली। एक और ट्रेन हादसा! बिहार में छपरा के निकट बुधवार तड़के नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से चार लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। उधर दुर्घटना घटी, रेलवे और सरकार की ओर से लीपापोती की कोशिश शुरू हो गई साथ ही विरोधियों ने आरोपों के जरिए हमला शुरू कर दिया। ऐसा ही होता है हर दुर्घटना के बाद, लीपापोती, आरोप-प्रत्यारोप और फिर मामला शांत।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेल हादसे में जानमाल के नुकसान पर गहरा दुख प्रकट किया है। प्रधानमंत्री ने दुर्घटना में घायल लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। उन्होंने कहा कि वह रेल मंत्री सदानंद गौड़ा के संपर्क में हैं जो उन्हें घटना से संबंधित बातों से अवगत करा रहे हैं।

दुर्घटना पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नए रेल मंत्री सदानंद गौड़ा ने घटना पर गहरा दुख प्रकट किया साथ ही हर बार की तरह मुआवजे की घोषणा कर मरहम लगाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि हादसे की वजह अभी मालूम नहीं है लेकिन नक्सली हमला का शक है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस हादसे के लिए माओवादियों को जिम्मेदार ठहराए जाने पर कहा कि अभी इस पर कोई निष्कर्ष निकालना जल्दबाजी होगी।

उधर, राजद प्रमुख और पूर्व रेल मंत्री लालू ने दुर्घटना पर गहरा दुख प्रकट किया फिर राजनीति करते हुए क्षेत्र के भाजपा सांसद पर हमला करने से नहीं चूके। लालू ने कहा कि रूडी सिर्फ इतना जानते हैं कि अपना और अपनी सरकार का डंका कैसे पीटना हैं, उन्हें जमीनी हकीकत के बारे में कुछ नहीं मालूम।

भाजपा के स्थानीय सांसद राजीव प्रताप रूड़ी ने दुर्घटना पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि उन्हें जैसे ही इस घटना की सूचना मिली वह कुछ घंटों में ही छपरा पहुंच गए। रूड़ी ने कहा कि रेलवे की ओर से राहत और बचाव का काम किया जा रहा है। सभी यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचा दिया गया है। घटना के बारे में स्पष्ट रूप से नहीं कहा जा सकता है कि इसमे माओवादियों का हाथ है या कोई और वजह।

दुर्घटना के बारे में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अरुणेंद्र कुमार ने कहा कि तोड़फोड़ की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता।

पढ़ें: दिल्ली जा रही युवती से राजधानी एक्सप्रेस में छेड़छाड़

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट