नई दिल्ली, प्रेट्र। रेलवे ने अपने 13 हजार से ज्यादा ऐसे कर्मचारियों की पहचान की है जो लंबे समय से अनधिकृत रूप से छुट्टी पर हैं। रेलवे ने उनकी सेवाएं खत्म करने के लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है।

दरअसल, रेलवे ने प्रदर्शन सुधारने और ईमानदार व मेहनती कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाने के लिए एक अभियान शुरू किया है। यह कार्रवाई उसी अभियान का हिस्सा है। रेलवे की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, रेलवे ने अपने सभी अधिकारियों और पर्यवेक्षकों को निर्देश दिया है कि वे आवश्यक प्रक्रियाओं का पालन करते हुए इन कर्मियों को कर्मचारी सूची से बाहर करें।

नौ माह में वसूला 850 करोड़ जुर्माना

वर्तमान वित्तीय वर्ष के शुरुआती नौ महीनों में रेलवे ने यात्रियों से टिकट से जुड़े जुर्माने के रूप में 850 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि वसूली है। रेल राज्यमंत्री राजन गोहाई ने शुक्रवार को राज्यसभा में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वित्त वर्ष 2017-18 में दिसंबर तक 18.18 लाख चैकिंग की गईं और इस दौरान 1.83 करोड़ यात्रियों से जुर्माने की उक्त राशि वसूली गई।

By Manish Negi