पटना। रेलवे जैसा कोई सरकारी विभाग मानवता का कोई काम करे इसकी शायद ही कोई कल्पना कर सकता है, लेकिन रेलवे ने एक ऐसा उदाहरण पेश किया है जो आपको उसके बारे में विचार बदलने पर मजबूर कर सकता है।

चलती ट्रेन में एक गर्भवती महिला को लेबर पेन शुरू हो गया। रेलवे ने लंबी दूरी की उस ट्रेन को एक स्टेशन पर रोक कर उस गर्भवती महिला की मदद की। कंट्रोल रूम के निर्देश पर अजमेर-किशनगंज गरीब नवाज एक्सप्रेस को बुधवार रात सोनपुर डिविजन के उस स्टेशन [दिघवारा] पर रोका गया जहां वह ट्रेन रुकती नहीं है।

प्लेटफॉर्म पर एक डॉक्टर और नर्स पहले से मौजूद थे। ये लोग गर्भवती महिला को निकट के अस्पताल ले गए जहां उसने स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया।

इस बारे में सोनपुर डिविजन के डीसीएम बीएनपी वर्मा ने कहा कि फोन पर सूचना मिलने पर दिघवारा में ट्रेन रोकने का फैसला मानवता के आधार पर लिया गया। समय पर कार्रवाई करने की वजह से सामान्य तरीके से स्वस्थ्य बच्चे का जन्म हो सका।

पढ़ें: राजधानी और शताब्दी में अब यह खास सुविधा भी मिलेगी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस