मुंबई, प्रेट्र। खर्राटे अक्सर दूसरों के लिए परेशानी का सबब बनते हैं, लेकिन भारतीय रेल में हुई घटना में खर्राटे निकालने वाले व्यक्ति को सजा भुगतनी पड़ गई। वाकया पिछले सप्ताह का है। एलटीटी दरभंगा पवन एक्सप्रेस के थर्ड एसी कोच में उस समय अजीबोगरीब स्थिति पैदा हो गई जब रामचंद्र नाम के व्यक्ति के खर्राटों से सहयात्री परेशान हो गए। पहले उन लोगों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। अलबत्ता जब उनका सोना दुश्वार होने लगा तो उन्होंने एक फैसला लिया। रामचंद्र को जबरन जगाया गया और अगले पांच-छह घंटों तक उसे सोने नहीं दिया गया। इसके चलते दोनों पक्षों में तीखी बहस भी हुई।

चीफ टिकट इंस्पेक्टर गणेश एस विरहा ने बताया कि वह सुबह पांच बजे जबलपुर से कोच में सवार हुए, तब उन्हें मामले का पता चला, लेकिन रामचंद्र ने शिकायत नहीं दी थी इस वजह से कोई कार्रवाई नहीं की गई। उनका कहना है कि घटना अजीबोगरीब है पर मामला निपट गया यह राहत की बात है। रेलवे के एक अन्य अधिकारी का कहना है कि खर्राटों को लेकर अक्सर उनके पास शिकायतें आती हैं।

 

Posted By: Manish Negi