नई दिल्ली। पिछले एक महीने से अज्ञातवास पर गए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अब कांग्रेस की किसान रैली से अपनी धमाकेदार वापसी कर सकते हैं। मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए राहुल 19 अप्रैल को दिल्ली में होने वाली कांग्रेस की किसान रैली में भाग लेंगे।

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने सोमवार को राहुल गांधी के इस रैली में भाग लेने की जानकारी दी। मोदी सरकार के भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ रामलीला मैदान में होने वाली इस रैली को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत कई नेता संबोधित करेंगे। दिग्विजय सिंह ने बताया कि इस किसान रैली में दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान के भी किसान बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे।

उल्लेखनीय है कि संसद का बजट सत्र शुरू होने के पहले से राहुल अचानक छुट्टी पर चले गए हैं। वे कहां हैं, इसकी कोई जानकारी नहीं है। गत दिनों सोनिया गांधी ने कहा था कि राहुल जल्द लौटेंगे। इस बीच सोनिया ने भूमि अधिग्रहण विधेयक को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ किसानों को लामबंद करने का अभियान छेड़ दिया है। इसी कड़ी में 19 अप्रैल को रामलीला मैदान में किसान रैली का शंखनाद किया गया। पार्टी ने पहले 12 अप्रैल के लिए रामलीला मैदान बुक कराया था। फिर इस रैली को एक हफ्ते पीछे टाल दिया।

रैली के जरिए ताजपोशी?

कांग्रेस भट्टा पारसौल से उपजे भूमि अधिग्रहण कानून 2013 को मोदी सरकार के खिलाफ संघर्ष का बड़ा हथियार बनाना चाहती है। इस कानून के लिए राहुल गांधी ने भी लंबा संघर्ष किया। मोदी सरकार इसे बदलना चाहती है और संशोधन विधेयक अटकने के बाद वह एक बार फिर अध्यादेश जारी करने जा रही है। ऐसे में कांग्रेस रामलीला मैदान से राहुल को किसानों का बड़ा नेता और रहनुमा बताते हुए उनकी पार्टी प्रमुख के पद पर ताजपोशी कर सकती है।

पढ़ेंः लापता राहुल गांधी की तलाश, इनाम का एलान

पढ़ेंः राहुल छुट्टी से जल्द ही लौटेंगेः सोनिया

Posted By: Gunateet Ojha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस