गुवाहाटी, प्रेट्र। राफेल युद्धक विमान खरीद में पैदा हुआ विवाद वायुसेना की छवि खराब नहीं करेगा। लोग भूसा और गेहूं में अंतर जानते हैं। ईस्टर्न एयर कमांड के एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल रघुनाथ नांबियार ने सोमवार को यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि भारतीय वायुसेना कभी गलत नहीं करेगी।

राफेल विमान की परीक्षण उड़ान करने वाले नांबियार ने कहा कि भारतीयों की नजर में सेना पवित्र संस्थान है। नांबियार ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में राफेल प्रकरण और वायुसेना की छवि को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा, 'हम बहुत केंद्रित और सेवा के मामले में बहुत ही पेशेवर हैं। वायुसेना की छवि को लेकर लोग जैसी उम्मीद करते हैं, हम उस दिशा में काम जारी रखेंगे।' उन्होंने कहा, 'मुझे विश्वास है कि लोग बहुत अच्छे से जानते हैं कि क्या चल रहा है। जनता हमारी उम्मीद से ज्यादा समझदार है।'

नांबियार ने गत सप्ताह शिलांग में कहा था कि प्रदर्शन के मामले में राफेल चीन की चौथी और पांचवीं पीढ़ी के युद्धक विमानों से कहीं बेहतर है। पिछले माह ईस्टर्न एयर कमांड का पदभार संभालते वक्त भी उन्होंने राफेल को गेमचेंजर बताया था।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप