रायपुर (दीपक अवस्थी)। गोलगप्‍पे से परहेज और एहतियात बरतने की सलाह के बावजूद लोग इसे खाने से बाज नहीं आते हैं। जाहिर है ये मनाही सेहत के लिए होती है लेकिन अब डॉक्‍टर की ओर से इस बात की पुष्‍टि की गई है कि जो बच्चे-बुजुर्ग अक्सर सर्दी-खांसी से परेशान रहते हैं, उन्हें गोलगप्पे खाने से इससे छुटकारा मिल जाएगा। आपको पढ़ने में अटपटा तो लग रहा होगा, लेकिन यह सच है।

छत्तीसगढ़ की दुग्ध विज्ञान एवं खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय की प्रोफेसर डॉ. अर्चना खरे ने इस पर शोध किया है। इसमें खास है गोलगप्पे का पानी। उन्होंने फटे दूध के पानी में नींबू और चुकंदर का रस मिलाकर गोलगप्पे का पानी तैयार किया ताकि इसके सेवन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़े और सर्दी-खांसी ठीक हो जाए।

रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने की वजह से होती है सर्दी-खांसी

इस विधि को इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल रिसर्च (आईसीएआर) ने प्रमाणित भी कर दिया है। दरअसल सर्दी-खांसी रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी के कारण होती है। दूध में मानव शरीर के विकास और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के सभी तत्व पाए जाते हैं। जब दूध फट जाता है तब उसके आधे तत्व पानी में रह जाते हैं, जिसमें कैल्शियम, विटामिन ए की पूर्ति के लिए नींबू तथा आयरन और प्रोटीन के लिए चुकंदर का रस मिलाया गया। गोलगप्‍पे के पानी में तीखेपन के लिए काली मिर्च और अदरक डाली गई, ताकि गोलगप्पे के पानी का पूरा स्वाद आ जाए। सर्दी-जुकाम वाले कई छात्रों पर इसका प्रयोग किया गया। लगातार तीन दिन तक सात से आठ गोलगप्पे खाने से उनकी सर्दी-खांसी दूर हो गई।

इस तरह तैयार होता है पानी

चुकंदर को साफ कर उसे मिक्सी में पीस कर रस निकाल लें, उसके बाद उक्त रस को उबालकर उसे फटे दूध के पानी में मिला दें। नींबू को साफ कर उसका एक कप रस निकाल लें, उसके एक चम्मच कार्ली मिर्च, काला नमक और जीरा पाउण्डर डालें। फटे दूध के पानी में दोनों रस को मिला दें, यदि खट्टा कम है तो ऊपर से नींबू का रस मिलाया जा सकता है।

ये हैं पोषक मान

प्रोटीन- 1.5 ग्राम

वसा- 1.0 ग्राम

कैल्शियम- 90 मिली ग्राम

विटामिन- ए- 1.5 आइयू

आयरन- 0.79 माइक्रोग्राम

इनका कहना है

रायपुर के दुग्ध एवं खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय की प्रोफेसर डॉ. अर्चना खरे ने बताया कि फटे दूध का पानी ज्यादातर फेंक दिया जाता है, लेकिन उसमें पौष्टिकता सर्वाधिक होती है। इसी बात को ध्यान में रखकर आम लोगों की पसंद के अनुसार गोलगप्पे का पानी तैयार किया गया। इसमें नींबू और चुकंदर का रस मिलाया गया। इससे सर्दी-खांसी आसानी से ठीक हो जाती है। 

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप