नई दिल्ली, अनुराग मिश्र। अयोध्या में राम मंदिर के भूमि-पूजन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईआईटी कानपुर द्वारा बनाए हुए मास्क को पहना था। इस मास्क को आईआईटी कानपुर में इनक्यूबेटेड कंपनी ई-स्पिन ने बनाया था। आईआईटी का कहना है कि यह मास्क पूरी तरह से देसी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कार्यक्रम मन की बात में इस मास्क की तारीफ कर चुके हैं। प्रधानमंत्री द्वारा आईआईटी कानपुर का मास्क प्रयोग करने पर शिक्षकों ने खुशी जताई है।

ई-स्पिन के निदेशक डॉ संदीप पाटिल ने बताया कि यह मास्क बाजार में मौजूद अन्य मास्क से पूरी तरह अलग है। इस मास्क को ‘श्वासा’ नाम दिया गया है। इसकी विजिबिलिटी, फिल्टरेशन और क्षमता अन्य मास्कों की तुलना में बेहतर है। इस मास्क से बैक्टीरिया और वायरस के हमले से आप सुरक्षित रह सकते हैं। पाटिल ने बताया कि यह पहला मास्क है, जो नील्सन द्वारा सर्टिफाइड है। उन्होंने बताया कि ये मास्क पीएम 0.3 और पीएम 2.5 के हिसाब से बनाए जा रहे हैं। मौजूदा समय में इस मास्क को वाशेबल बनाए जाने पर काम चल रहा है। इसका फायदा यह होगा कि इस मास्क को दोबारा प्रयोग किया जा सकेगा।

पाटिल ने बताया यह मास्क थ्री-एम का रिप्लेसमेंट है। उन्होंने बताया कि इस मास्क का पहली बार निर्माण तीन जनवरी, 2019 में शुरू हुआ था। इसका प्रयोग उस दौरान अस्पतालों में अधिक होता था। संदीप ने आईआईटी कानपुर से पीएचडी की है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा मास्क का प्रयोग किए जाने पर डॉ संदीप पाटिल ने खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि हमारे मास्क का प्रयोग पीएम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। आईआईटी कानपुर के स्टार्टअप इनक्यूबेशन एंड इनोवेशन सेंटर ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि हमारी टीम प्रधानमंत्री द्वारा भूमि पूजन के दौरान हमारे मास्क के इस्तेमाल से काफी प्रसन्न है। यह भारतीय स्टार्टअप और इनोवेशन की क्वालिटी और क्षमता का सबूत है।

कंपनी N95 और N99 श्वासा मास्क दोनों का निर्माण कर रही है। प्रतिदिन 50 से 60 हजार मास्क बनाए जाते हैं। उत्पादन के दौरान प्रदूषण को रोकने के लिए उत्पादन लाइन को पूरी तरह से स्वचालित बनाया गया है। इस पहल के पीछे का विचार महामारी से लड़ने के लिए देश के सामूहिक प्रयास में योगदान करना है। इस कारण से मास्क बहुत ही सस्ती कीमत पर आम जनता के लिए उपलब्ध है। ये मास्क कंपनी की वेबसाइट के साथ-साथ कई प्रमुख ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस