नई दिल्ली, एएनआइ। भारत और पाकिस्तान के बीच भारी तनाव के कारण बंद की गई पोस्टल सेवाओं को एक बार फिर से चालू कर दिया गया है। पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, अभी भी पार्सल सेवाएं प्रतिबंधित है। गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच कई महीनों के तनाव के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ पोस्टल मेल सेवाओं को रोक दिया था। अक्टूबर में इसकी जानकारी दी गई थी। 

रविशंकर प्रसाद ने की थी अक्टूबर में घोषणा 

पाकिस्तान की इस एकतरफा कार्रवाई की केंद्रीय मंत्री रविशंकर निंदा करते हुए अक्टूबर में इसकी घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान ने ऐसा करके अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन किया था। साथ ही बताया कि पाकिस्तान ने पिछले दो महीनों से उन सेवाओं को रोक लगा दी थी। उन्होंने बताया था कि पाकिस्तान ने ये कदम बिना किसी पूर्व सूचना दिए उठाया गया है। पाकिस्तान ने ऐसा करके अंतरराष्ट्रीय पोस्टल यूनियन कानूनों का सीधा उल्लंघन किया था। लेकिन, पाकिस्तान तो पाकिस्तान है।

अगस्त से ही पाकिस्तान ने बंद कर दी थी सेवाएं

पाकिस्तान ने अगस्त से भारत से किसी भी तरह के डाक  की खेप को स्वीकार नहीं किया है। बता दें कि जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने के बाद पाकिस्तान ने ये कदम उठाया था। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान से जो पत्र भेजे गए है उन्हें एयरलाइंस के जरिए उपलब्ध कराई गई सेवाओं के जरिए भारत पहुंचाया जा रहा है। 

आजादी के बाद से पहली बार बंद की गई पोस्टल सेवाएं

पाकिस्तान के इस फैसले को अनावश्यक माना गया है क्योंकि, सीमापार तनाव और युद्ध के बाद भी कभी डाल सेवाओं को बंद नहीं किया गया है। हाल के महीनों में पाकिस्तान और भारत के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। आजादी के बाद से ये पहली बार है जब दोनों देशों के बीच पोस्टल सेवाओं को बंद किया गया। 

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप