जागरण संवाददाता, हिसार। स्थानीय दिल्ली गेट पर प्रसिद्ध हरियाणा ऑयल मिल के मालिक राजीव जैन की रविवार देर रात हत्या कर दी गई। परिजन मौत का कारण ब्रेन हैम्रेज समझ रहे थे, लेकिन सोमवार दोपहर हुए पोस्टमार्टम में हत्या का खुलासा हुआ। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

पुलिस ने मौके से एक पिस्तौल का लाइसेंस और एक कारतूस बरामद किया है जबकि पिस्तौल व 10 कारतूस गायब मिले हैं। ये पिस्तौल जैन के मित्र अनिल का बताया जा रहा है। अचानक कलकत्ता जाने के कारण उसने अपना पिस्तौल राजीव के पास छोड़ा था। अनिल सायं कलकत्ता से हांसी पहुंच गया और स्वयं पुलिस के समक्ष पेश हो गया।

पढ़ें: नलिनी सहित सातों हत्यारों की रिहाई के विरोध में केंद्र

राजीव जैन रविवार देर रात करीब डेढ़ बजे अपनी दुकान के ऊपर बने कार्यालय में मृत पाया गया। रात को चौकीदार ने करीब एक बजे जैन के कमरे में टीवी चलने की आवाज सुनने पर देखा कि दुकान का शटर डाउन है लेकिन उस पर ताला नहीं लगा हुआ है। चौकीदार ने ऊपर जाकर जब देखा तो राजीव का शव दीवार से सटा हुआ पड़ा था और उसके नाक से खून बह रहा था। देर रात जैन के शव को सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक डा. चंद्रशेखर के अनुसार मृतक राजीव के सिर में बायीं ओर गहरी चोट व एक हड्डी में फ्रेक्चर होने का पता चला है। पुलिस उन लोगों का पता लगा रही है जो राजीव के पास प्रतिदिन सायं आते थे।

पढ़ें: मेजर की बेटी का अपहरण, डेढ़ करोड़ फिरौती मांगी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस