जेएनएन, नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण से राहत का दौर खत्म नहीं होने वाला है। हवा की गति के कम होने पर मंगलवार से एक बार फिर स्थिति बिगड़ने की आशंका है। बुधवार को एयर इंडेक्स गंभीर श्रेणी में पहुंच सकता है।

सोमवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स (एक्यूआइ) महज 214 रहा। गाजियाबाद में 256, ग्रेटर नोएडा में 218, गुरुग्राम में 138, नोएडा में 227 दर्ज हुआ। इस स्तर की हवा को खराब श्रेणी में रखा जाता है। बीते सप्ताह की स्थिति को देखते हुए दिल्ली के लोगों के लिए यह किसी बड़ी राहत से कम नहीं है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक सोमवार शाम पांच बजे हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 की मात्रा 170 और पीएम 2.5 कणों की मात्रा 103 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रही। मानकों के अनुसार हवा में पीएम 10 की मात्रा 100 और पीएम 2.5 की मात्रा 60 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रहना चाहिए।

सफर के मुताबिक सोमवार शाम से हवा की गति में कमी शुरू हो गई है। मंगलवार और बुधवार को यह गति काफी कम रहेगी। मंगलवार को एयर इंडेक्स 350 से अधिक रहने की संभावना है जबकि बुधवार को यह 400 का आंकड़ा पार कर गंभीर श्रेणी में रहेगा। मालूम हो कि पंजाब और हरियाणा में बीते 24 घंटों में पराली के मामले बढे़ हैं। ऐसे में मंगलवार को पराली का धुआं दिल्ली को 13 फीसद तक प्रदूषित कर सकता है।

पंजाब में बढ़ा एयर इंडेक्स

पंजाब में कुछ दिनों से एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) में जारी गिरावट सोमवार को थम गई। मंडी गोबिंदगढ़ का एक्यूआइ 292 पहुंच गया और प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रदूषित रहा। बठिंडा की आबोहवा सबसे बेहतर रही और एक्यूआइ 55 पर रहा।

ईपीसीए अध्यक्ष ने चेताया

पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण एवं संरक्षण प्राधिकरण (ईपीसीए) के अध्यक्ष भूरेलाल ने सोमवार को दिल्ली व एनसीआर के राज्यों को चेताया कि वायु प्रदूषण के स्थानीय कारकों व पराली जलाने संबंधी मामलों पर सख्ती से निगरानी करें। दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के मुख्य सचिव को लिखे पत्र में भूरेलाल ने कहा कि हॉट मिक्स प्लांट, रेडी मिक्स प्लांट और स्टोन क्रशर अभी बंद रहेंगे।

प्रदूषण बेहद खराब स्तर में पहुंच सकता है

उन्होंने कहा कि तेज हवा के कारण प्रदूषण कम हो गया है, लेकिन मंगलवार से गुरुवार तक हवा की गति धीमी रहेगी। इससे धूलकण नहीं छंटेंगे व प्रदूषण बेहद खराब स्तर में पहुंच सकता है। प्रदूषण खतरनाक स्तर पर भी पहुंच सकता है। अगर हल्की बारिश हुई तो प्रदूषण काफी बढ़ जाएगा। 

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप