नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। मध्य प्रदेश की 230 और मिजोरम की 40 विधानसभा सीटों पर सोमवार को कड़ी सुरक्षा के बीच वोट डाले जाएंगे। दोनों राज्यों में चुनाव सिर्फ एक ही चरण में कराए जा रहे हैं। मिजोरम में पिछले दो चुनावों की तरह इस बार भी महिलाएं निर्णायक भूमिका में होंगी। दरअसल, मिजोरम देश का इकलौता ऐसा राज्य है जहां महिला मतदाताओं की तादाद पुरुषों से अधिक है।

मध्य प्रदेश में साढ़े चार करोड़ से ज्यादा तो मिजोरम में करीब सात लाख मतदाता अपने अधिकार का प्रयोग करेंगे। मध्य प्रदेश में नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले को छोड़कर बाकी 227 विधानसभा क्षेत्रों में सुबह आठ से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। जबकि नक्सल प्रभावित तीनों सीटों में मतदान सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक रखा गया है। चुनाव मैदान में कुल दो हजार 583 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस बार दो सीट विदिशा और बुधनी से चुनाव लड़ रहे हैं। अ‌र्द्धसैनिक बल की 552 कंपनियों के साथ बड़े पैमाने पर पुलिस बल चप्पे-चप्पे पर तैनात किया गया है। दूसरी तरफ, मिजोरम में इस बार कुल छह लाख 86 हजार 305 मतदाता हैं, जिनमें तीन लाख 49 हजार 506 महिला और तीन लाख 36 हजार 799 पुरुष मतदाता हैं। सत्तारूढ़ कांग्रेस ने 2008 के चुनाव में 32 सीटें जीती थी। यहां के मुख्यमंत्री लाल थनहलवा भी दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं।

पढ़ें: मिजोरम बना उदाहरण, बिना किसी हिंसा के हुआ चुनाव प्रचार

गरीबों का मजाक उड़ा रही कांग्रेस

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर