नई दिल्ली/कोच्चि, रॉयटर्स। 100 से 200 प्रवासी भारतीयों को लेकर जा रही एक नाव लापता हो गई है। भारतीय पुलिस का अनुमान है कि यह नाव न्यूजीलैंड की तरफ जा रही है। पुलिस को इन लोगों के 70 से ज्यादा बैग मिले हैं। ज्यादातर लोग नई दिल्ली और तमिलनाडु से हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बोट पर मौजूद लोग प्रवासी भारतीय हैं। यह नाव 12 जनवरी को केरल के मुनामबाम हार्बर से निकली थी। इस मामले में दो अधिकारी भी शामिल बताए जा रहे हैं और नई दिल्ली से एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है।

देश की राजधानी दिल्ली से गिरफ्तार हुए शख्स का नाम प्रभु धांडापानी है। पुलिस ने कहा है कि इस घटनाक्रम में शामिल दोनों अधिकारियों ने बताया है कि नाव न्यूजीलैंड जाने के लिए निकली थी। बताया जा रहा है कि नाव में 100 से 200 लोग सवार थे, जिनमें महिला और बच्चे भी शामिल थे।

जांच में जुटी भारतीय एजेंसियां

पुलिस अधिकारी वीजी रविंद्रन ने बताया है कि नाव में सवार लोगों के 70 से ज्यादा बैग बरामद किए गए हैं। इनमें से 20 से ज्यादा पहचान पत्र भी मिले हैं। पुलिस की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, इन बैग में कपड़े और ड्राई फ्रूट जैसा सामान मिला है। यानी ये लोग लंबी यात्रा की तैयारी के मकसद से निकले थे। पुलिस अधिकारी एमजे सोजन ने कहा है कि बरामद सामान से लगता है कि लंबी जलयात्रा के मकसद से लोगों ने अपने बैग पैक किए थे। बताया जा रहा है कि लापता लोग बीच समुद्र में ही कहीं फंसे हुए हैं। पुलिस का कहना है कि कई भारतीय एजेंसियां इन लोगों की तलाश में जुटी हुई हैं। इनमें इंडियन कोस्ट गार्ड की टीमें भी शामिल हैं।

जानलेवा है न्यूजीलैंड का सफर

न्यूजीलैंड जाने के लिए शरणार्थियों को 7000 मील समुद्री यात्रा करनी पड़ती है। इस यात्रा को दुनिया की सबसे मुश्किल समुद्री यात्राओं में से एक माना जाता है। इस दौरान समुद्र में साइक्लोन, तूफान और बारिश में फंसने और मौसम खराब होने का हमेशा डर बना रहता है। सबसे मुश्किल चुनौती इंडोनेशिया से ऑस्ट्रेलिया के बीच के रास्ते में आती है। न्यूजीलैंड के आव्रजन अधिकारी से इस बारे में जानकारी लेने की कोशिश की गई तो उनसे संपर्क नहीं हो सका। फिलहाल भारतीय पुलिस इस मामले में लापता लोगों के घरवालों से और जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है।

Posted By: Arti Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस