नई दिल्‍ली, पीटीआइ। पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्‍य आरोपी नीरव मोदी के परिवार के सदस्‍यों के खिलाफ अब शिकंजा कसना शुरू हो गया है। इंटरपोल ने नीरव की बहन पूर्वी मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है। इससे पहले इंटरपोल नीरव के मामा मेहुल चोकसी और सहयोगी मिहिर भंसाली के खिलाफ भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर चुका है।

भगोड़े आभूषण व्यापारी मेहुल चोकसी की ओर से रेड कार्नर को लेकर लगाई गई गुहार पर इंटरपोल अगले महीने फैसला लेगा। फ्रांस के लियोन में इंटरपोल कमेटी रेड कार्नर नोटिस पर अक्टूबर में फैसला लेगी। भारत ने मेहुल चोकसी के खिलाफ काफी मजबूत केस तैयार किया है। इसके पहले इंटरपोल ने भारत की रेड कार्नर नोटिस की सिफारिश को होल्ड कर लिया था क्‍योंकि मेहुल चोकसी ने इंटरपोल के सामने दावा किया था कि उसके खिलाफ केस राजनीतिक साजिश के तहत लगाए गए हैं। चोकसी ने भारतीय जेलों की खराब स्‍थिति का मामला भी उठाया था जिसका सीबीआई ने पूरी तरह से खंडन किया।

इंटरपोल ने भगोड़े आभूषण कारोबारी नीरव मोदी के निकटतम सहयोगी और वरिष्ठ एग्जिक्यूटिव मिहिर आर. भंसाली के खिलाफ भी रेड कार्नर नोटिस जारी किया। यह कदम 13000 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले से संबंधित मनी लांड्रिंग मामले में उठाया गया है। एक अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी। अंतरराष्ट्रीय वारंट के रूप में जारी नोटिस में कहा गया है कि भारतीय एजेंसियों को मनी लांड्रिंग की जांच में भंसाली की जरूरत है।

नीरव के प्रत्‍यर्पण में जुटा है भारत

नीरव मोदी के यूनाइटेड किंगडम में होने की जानकारी के बाद भारत ने उसके प्रत्यर्पण की कोशिश शुरू कर दी है। मेहुल चोकसी के इस समय एंटीगुआ और बारबुडा में हैं और उसने इस देश की नागरिकता भी ले ली है। मेहुल चोकसी ने देश से भागने से पहले ही पूरा प्लान तैयार कर लिया था। नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी 13,500 करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले में आरोपी हैं। इस महीने की शुरुआत में ही भारत सरकार ने संसद में बाताया था कि यूके में भारतीय मिशन को नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की अर्जी भेजी जा चुकी है।

Posted By: Tilak Raj