नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गोल्ड मॉनीटाइजेशन और गोल्ड बॉन्ड स्कीम लॉन्च कर दी है। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि सोना महिलाओं की ताकत है और महिला सशक्तिकरण का माध्यम सोना ही है। इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा कि भारत के पास बीस हजार टन सोना पड़ा है और ऐसे में इसे इस्तेमाल करने से देश की स्थिति में सुधार आएगा। साथ ही साथ महिलाओं को इस स्कीम से बहुत फायदा मिलेगा।

आपको बता दें कि इसमें पांच व दस ग्राम के वजन वाले ये सिक्के 24 कैरेट की शुद्धता वाले होंगे। साथ ही पीएम ने 20 ग्राम के गोल्ड बार भी लांच किए हैं। यह पहला मौका है कि सरकार ने सोने के देशी सिक्के शुरू किए है। अब तक विदेश में बने सोने के सिक्के ही बाजार में मिलते थे।


इससे पहले सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एमएमटीसी के सीएमडी वेद प्रकाश ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहा कि सोने के सिक्के फिलहाल कंपनी के निर्धारित 18 शोरूम पर उपलब्ध होंगे। बाद में ये सिक्के बैंकों और डाकघरों में भी मिलने लगेंगे। पहले चरण में 40,000 सोने के सिक्के ढाले गए हैं।

इन्हें अशोक चक्र वाला सिक्का नाम दिया गया है। इन पर एक ओर अशोक च्रक तथा दूसरी ओर महात्मा गांधी की तस्वीर छपी होगी। सिक्कों की खास बात यह है कि इनमें विशेष सुरक्षा फीचर्स होंगे। इससे इनकी शुद्धता सुनिश्चित की जा सकेगी। चौबीस कैरेट शुद्धता वाले इन सभी सिक्कों पर बीआइएस के मानकों के अनुरूप हॉलमार्क लगे होंगे।

गोल्ड बांड पर मिलेगा 2.75 फीसद ब्याज

प्रधानमंत्री ने हाल में ही में धनतेरस से पहले सोने से जुड़ी सरकारी योजनाएं शुरू करने का एलान किया था। इनमें से एक योजना सोने के सिक्के शुरू करने के संबंध में ही है। आज ही प्रधानमंत्री गोल्ड मॉनिटाइजेशन और गोल्ड सॉवरेन बांड स्कीमें भी लांच करेंगे।

सोने में निवेश करने वाले लोगों के लिए लांच की जा रही गोल्ड सॉवरेन बांड स्कीम के तहत कोई भी व्यक्ति एक वित्त वर्ष में न्यूनतम दो ग्राम से लेकर अधिकतम 500 ग्राम तक का गोल्ड बांड खरीद सकेंगे। गोल्ड मॉनिटाइजेशन स्कीम के तहत आम लोग अपना सोना बैंक में जमा कर सकेंगे। इन योजनाओं की घोषणा वित्त मंत्री ने इस साल के आम बजट में की थी।

धनतेरस पर सजने लगा स्वर्ण बाजार

Edited By: Sachin Bajpai