जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अमल को एक साल पूरा होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार यानी 29 जुलाई को देश भर के शिक्षा क्षेत्र से जुड़े लोगों को संबोधित करेंगे। जिसमें शिक्षक, छात्र और अभिभावक सभी शामिल होंगे। इस मौके पर वे शिक्षा क्षेत्र से जुड़े कई बड़े एलान भी करेंगे। इनमें सबसे अहम एकेडमिक बैंक आफ क्रेडिट स्कीम व स्थानीय भाषाओं में इंजीनिय¨रग कोर्स का शुभारंभ शामिल है।

छात्रों के लिए रोचक स्कीम

खास बात यह है कि एकेडमिक बैंक आफ क्रेडिट स्कीम में पढ़ाई बीच में छोड़ना भी अब बेकार नहीं जाएगा, बल्कि क्रेडिट के रूप में जमा रहेगा। जब भी चाहेंगे उसे वहीं से शुरू कर सकेंगे। या फिर नए कोर्स के दाखिले में उसका लाभ मिल जाएगा। छात्रों के लिए यह रोचक स्कीम होगी।

पीएम मोदी राष्ट्रीय शिक्षा नीति को आगे बढ़ाने का रोडमैप करेंगे पेश

पीएम मोदी इस मौके पर राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत एक साल के भीतर उठाए गए कदमों की भी जानकारी देंगे। साथ ही नीति को आगे बढ़ाने का रोडमैप भी पेश करेंगे। पीएम इसके साथ ही उच्च शिक्षा को नई उंचाई पर ले जाने और उसे अंतरराष्ट्रीय स्वरूप देने पर भी अपनी राय देंगे।

शिक्षा के क्षेत्र में उठाए गए कदमों की देंगे जानकारी

शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक पीएम इस मौके पर और भी जिन पहलों को शुरू करने का एलान करेंगे, उनमें स्कूलों में पहली ग्रेड के छात्रों के लिए तीन महीने का नाटक आधारित माड्यूल, शिक्षकों के प्रशिक्षण से जुड़ा सफल कार्यक्रम आदि शामिल हैं। इसके साथ ही उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में उठाए गए कदमों की भी जानकारी देंगे।

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को केंद्र सरकार ने पिछले 29 जुलाई को मंजूरी दी थी

गौरतलब है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को केंद्र सरकार ने पिछले 29 जुलाई को मंजूरी दी थी। इसके बाद ही इसके अमल का पूरा रोड़मैप तैयार किया गया था। जिस पर फिलहाल तेजी से काम चल रहा है। कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मुख्य रूप से मौजूद रहेंगे।

शिक्षा मंत्री ने कस्तूरीरंगन से की मुलाकात

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अमल का एक साल पूरे होने के पहले केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को बेंगलुरु में नीति तैयार करने वाले कमेटी के अध्यक्ष पदम विभूषण डाक्टर के.कस्तूरीरंगन से मुलाकात की। साथ ही नीति के अमल को लेकर चर्चा भी की है। बता दें कि प्रधान को पार्टी ने कर्नाटक में मुख्यमंत्री के चयन के लिए बतौर पर्यवेक्षक भेजा था। इस दौरान उन्होंने राजनीतिक चर्चा के बीच समय निकालकर कस्तूरीरंगन से मुलाकात की है। वे गुरुवार को राष्ट्रीय शिक्षा नीति का एक साल पूरा होने के मौके पर पीएम के कार्यक्रम में भी शामिल होंगे।

Edited By: Bhupendra Singh