नई दिल्ली, एजेंसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार सुबह 10:30 बजे विभिन्न क्षेत्रों के स्टार्टअप्स से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करेंगे। इस दौरान कृषि, स्वास्थ्य, एंटरप्राइज सिस्टम, स्पेस, उद्योग 4.0, सुरक्षा, फिनटेक, पर्यावरण आदि सहित विभिन्न क्षेत्रों के स्टार्टअप इस बातचीत का हिस्सा होंगे।

150 से ज्यादा स्टार्टअप्स होंगे शामिल

प्रधानमंत्री के साथ बातचीत में शामिल होने के लिए 150 से ज्यादा स्टार्टअप्स को शामिल किया गया है। इन सभी ग्रुप्स को विषयों के आधार पर छह अलग-अलग समूहों में बाटा गया है। इसमें ग्रोइंग फ्राम रूट्स, स्थानीय से वैश्विक तक, भविष्य की प्रौद्योगिकी, निर्माण के चैंपियंस, और सतत विकास के लोगों को शामिल किया गया है।

पीएम के सामने प्रेजेंटेशन देंगे स्टार्टअप्स  

प्रत्येक समूह बातचीत के लिए आवंटित विषय पर प्रधानमंत्री के समक्ष एक प्रस्तुति देगा। बातचीत का उद्देश्य यह समझना है कि देश में नवाचार चलाकर स्टार्टअप राष्ट्रीय जरूरतों में कैसे योगदान दे सकते हैं। आज़ादी का अमृत महोत्सव के एक भाग के रूप में, एक सप्ताह तक चलने वाले कार्यक्रम, "सेलिब्रेटिंग इनोवेशन इकोसिस्टम", DPIIT, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा 10 से 16 जनवरी 2022 तक आयोजित किया जा रहा है। यह आयोजन स्टार्टअप इंडिया पहल लान्च की छह वीं वर्षगांठ का प्रतीक है।

स्टार्टअप्स में प्रधानमंत्री का विश्वास

प्रधानमंत्री का देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए स्टार्टअप्स की क्षमता में दृढ़ विश्वास रहा है। यह 2016 में स्टार्टअप इंडिया की प्रमुख पहल के शुभारंभ में परिलक्षित हुआ। सरकार ने स्टार्टअप के विकास और विकास को बढ़ावा देने के लिए एक सक्षम वातावरण प्रदान करने पर काम किया है। पीएमओ ने कहा कि इसका देश में स्टार्टअप इकोसिस्टम पर जबरदस्त प्रभाव पड़ा है और देश में यूनिकॉर्न की आश्चर्यजनक वृद्धि हुई है।

Edited By: Amit Singh