म्यूनिख, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि 21वीं सदी का भारत चौथी औद्योगिक क्रांति की अगुआई कर रहा है। उन्होंने कहा कि चाहें सूचना प्रौद्योगिकी का क्षेत्र हो या डिजिटल प्रौद्योगिकी का, भारत हर मोर्चे पर चमक रहा है। जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए तीन दिन की यात्रा पर जर्मनी पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी म्यूनिख में प्रवासी भारतीयों के कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम है और वह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल फोन निर्माता है।

म्यूनिख में सामुदायिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा-

  • हम भारतीय कहीं भी रहें, अपनी डेमोक्रेसी पर गर्व करते हैं। हर हिंदुस्तानी गर्व से कहता है, भारत मदर आफ डेमोक्रेसी है
  • आज भारत के हर गांव तक बिजली पहुंच चुकी है। आज भारत का लगभग हर गांव, सड़क मार्ग से जुड़ चुका है।
  • आज भारत के 99 प्रतिशत से ज्यादा लोगों के पास क्लीन कुकिंग के लिए गैस कनेक्शन है।
  • आज भारत का हर परिवार बैंकिंग व्यवस्था से जुड़ा हुआ है।

पीएम मोदी ने भारतीय डेमोक्रेसी पर जोर देते हुए कहा-

  • भारत ने दिखाया है कि इतने विशाल और इतनी विविधता भरे देश में डेमोक्रेसी कितने बेहतर तरीके से डिलिवर कर रही है। जिस तरह करोड़ों भारतीयों ने मिलकर बड़े-बड़े लक्ष्य हासिल किए हैं, वो अभूतपूर्व है।
  • आज भारत का हर गांव Open Defecation Free है। देश का हर गरीब को 5 लाख रुपए के मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध है।
  • कोरोना के इस समय में भारत पिछले दो साल से 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त अनाज सुनिश्चित कर रहा है। इतना ही नहीं, आज भारत में औसतन हर 10 दिन में एक यूनिकार्न बन रहा है।
  • आज 21वीं सदी का भारत, चौथी औद्योगिक क्रांति में, इंडस्ट्री 4.0 में, पीछे रहने वालों में नहीं बल्कि इस औद्योगिक क्रांति का नेतृत्व करने वालों में से एक है।

पीएम मोदी ने 'आज के भारत' पर कहा-

  • इनफार्मेशन टेक्नोलाजी और डिजिटल टेक्नोलाजी में भारत अपना परचम लहरा रहा है। आज का भारत 'होता है, चलता है, ऐसे ही चलेगा' वाली मानसिकता से बाहर निकल चुका है। आज भारत 'करना है' 'करना ही है' और 'समय पर करना है' का संकल्प रखता है।
  • भारत अब तत्पर है, तैयार है, अधीर है। भारत अधीर है, प्रगति के लिए, विकास के लिए। भारत अधीर है, अपने सपनों के लिए, अपने सपनों की सिद्धि के लिए।
  • आज भारत में 90 प्रतिशत adults को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं। 95 प्रतिशत adults ऐसे हैं, जो कम से कम एक डोज ले चुके हैं। ये वही भारत है, जिसके बारे में कुछ लोग कह रहे थे कि सवा अरब आबादी को वैक्सीन लगाने में 10-15 साल लग जाएंगे।

नए भारत से दुनिया भी कर रही है उम्मीद: पीएम

  • मुश्किल से मुश्किल हालातों में भी भारत के लोगों का हौसला ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है।
  • पिछले साल हमने अब तक का highest export किया है। ये इस बात का सबूत है कि एक ओर हमारे मनुफक्टेर्स नए अवसरों के लिए तैयार हो चुके हैं, वहीं दुनिया भी हमें उम्मीद और विश्वास से देख रही है।

पीएम मोदी ने कहा-

  • क्लाइमेट चेंज, आज ये भारत में केवल सरकारी पालिसीज का मुद्दा नहीं है। भारत का युवा EV और ऐसी ही दूसरी pro-climate technologies में इन्वेस्ट कर रहा है।
  • सस्टेनेबल क्लाइमेट प्रैक्टिस आज भारत के सामान्य से सामान्य मानवी के जीवन का हिस्सा बन रही हैं।
  • आज स्वच्छता भारत में एक जीवनशैली बन रही है। भारत के लोग, भारत के युवा देश को स्वच्छ रखना अपना कर्तव्य समझ रहे हैं।
  • आज भारत के लोगों को भरोसा है कि उनका पैसा ईमानदारी से देश के लिए लग रहा है, भ्रष्टाचार की भेंट नहीं चढ़ रहा। इसलिए देश में tax compliance तेजी से बढ़ रही है।

जर्मनी में कुछ ऐसा रहेगा पीएम मोदी का कार्यक्रम

जर्मनी की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो सत्रों को संबोधित कर सकते हैं। इसमें एक सत्र पर्यावरण, ऊर्जा, जलवायु का होगा और दूसरे सत्र में खाद्य सुरक्षा, लैंगिक समानता और लोकतंत्र जैसे विषय शामिल हैं। इस शिखर बैठक से इतर प्रधानमंत्री मोदी सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले कुछ देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे। जी7 शिखर बैठक में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को निमंत्रण दोनों देशों की करीबी गठजोड़ और उच्च स्तरीय राजनीतिक सम्पर्क की परंपरा के मद्देनजर दिया गया है।

Edited By: Ashisha Rajput