पेरिस। निवेश एवं प्रौद्योगिकी हासिल करने के मकसद से तीन देशों (फ्रांस, जर्मनी और कनाडा) की यात्रा पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले पड़ाव के रूप में गुरुवार देर रात पेरिस पहुंच गए।

प्रधानमंत्री अपने नौ दिवसीय इस दौरे में परमाणु एवं रक्षा सहित कई अहम मुद्दों पर बातचीत होगी। उनके दौरे का पहला पड़ाव फ्रांस है। पेरिस पहुंचे मोदी वहां राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद से बातचीत करेंगे और कारोबारी नेताओं से भी मुलाकात करेंगे। बातचीत मुख्य रूप से परमाणु, रक्षा एवं व्यापार पर केंद्रित होगी।

चार दिन की फ्रांस यात्रा के तहत मोदी ओलांद के साथ नौका की भी सवारी करेंगे। इसे 'नाव पे चर्चा' का नाम दिया जा रहा है। फ्रांस में प्रधानमंत्री प्रथम विश्व युद्ध का स्मारक देखने भी जाएंगे और उन 10,000 भारतीयों को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे, जिन्होंने फ्रांस के निकट लड़ते हुए अपनी जान गंवाई थी। वह यूनेस्को मुख्यालय, एयरबस की इकाई और फ्रांसीसी अंतरिक्ष एजेंसी के दफ्तर भी जाएंगे। भारत को उम्मीद है कि फ्रांसीसी कंपनियां मोदी की ओर से शुरू किए गए 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी।

,फ्रांस से मोदी जर्मनी रवाना होंगे जहां एक बार फिर उनका फोकस व्यापार और प्रौद्योगिकी पर होगा। प्रधानमंत्री पहले 'हनोवर मेले' में जाएंगे, जहां इस साल भारत एक साझेदार है। इस मेले में करीब 400 भारतीय कंपनियां हिस्सा ले रही हैं।

मोदी जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के साथ मेले में 'भारतीय पवेलियन' का उद्घाटन करेंगे और भारत-जर्मनी व्यापार सम्मेलन को संबोधित करेंगे। मोदी हनोवर में महात्मा गांधी की एक प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे।

दोनों नेता बर्लिन में विस्तृत वार्ता करेंगे, जो मुख्य रूप से विकास के लिए दोनों देशों का सहयोग बढ़ाने पर केंद्रित होगी। अपने दौरे के तीसरे और आखिरी चरण में मोदी कनाडा जाएंगे। पिछले 42 साल में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली कनाडा यात्रा होगी।

पढ़ेंः ममता ने मोदी पर कसा तंज, बताया बिना दिमाग वाला

पढ़ेंः पीएम मोदी ने भारतीयों को बचाने के लिए पाक को सराहा

Posted By: vivek pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप