नई दिल्ली, एएनआइ। आज बहादुर स्वतंत्रता सेनानी और समाज सुधारक नानाजी देशमुख की जयंती है। इस मौके पर देश उन्हें याद कर रह रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित तमाम दिग्गजों ने जेपी को याद किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जेपी के लिए राष्ट्रीय हित और लोगों के कल्याण से ऊपर कुछ नहीं था। 

ट्वीट करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोकनायक नारायण सभी युवाओं के लिए प्रेरणा का केंद्र है। उनके लिए सबसे पहले राष्ट्र रहा है। उन्होंने कहा,' मैं लोकनायक जयप्रकाश नारयण की जयंती पर उन्हें नमन करता हूं। उन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए बहादुरी से लड़ाई लड़ी और स्वतंत्रता दिलाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। 

11 अक्टूबर  1902 को हुआ था जेपी का जन्म

देश को आजादी दिलाने में अहम भूमिका निभाने के जेपी को आज पूरा देश नमन कर रहा है। आज यानी 11 अक्टूबर को 1902 को बिहार में सारण के सिताबदियारा में उनका जन्म हुआ था। 

नानजी देशमुख को नमन

इसके साथ ही उन्होंने समाज सुधारक और भारतीय जनसंघ के नेता नानाजी देशमुख की जयंती पर नमन किया। ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि उन्होंने देश के गावों और किसानों के कल्याण के लिए बहुमूल्य योगदान दिया है। 

सतना में हुआ था नानाजी का जन्म

नानाजी देशमुख का जन्म मध्य प्रदेश के सतना में 11 अक्टूबर 1916 क हुआ था। जनसंघ के नेता के तौर पर भी उन्होंने कार्य किया है।

राजनाथ सिंह ने भी किया नमन

इसके साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जयप्रकाश नारायण को याद करते हुए कहा कि जेपी ने लोकतंत्र को सुरक्षित रखने में प्रभावी भूमिका अदा की है। उन्होंने ट्वीट करते हुआ कहा,' लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती के अवसर पर मैं उनके महान व्यक्तित्व एवं कृतित्व को स्मरण एवं नमन करता हूं। लोकतंत्र को सुरक्षित रखने में उनकी जो प्रभावी भूमिका रही है, वह हम सभी भारतवासियों को आज भी प्रेरणा देती है। बिहार की धरती धन्य है, जहां जेपी जैसे राष्ट्रनायक का जन्म हुआ।'

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस