जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। बिहार में चुनाव प्रचार समाप्त होने के एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उम्मीद जताई है कि बिहार की जनता 'सुशासन की राजनीति' को प्राथमिकता देगी। उनके अनुसार बिहार के लोगों और खासकर युवाओं व महिलाओं की उम्मीदें राजग पर टिकी हैं।

मोदी ने 'आत्मनिर्भर भारत' की तर्ज पर 'आत्मनिर्भर बिहार' का दिया नारा

सहरसा में अंतिम चुनावी रैली को संबोधित करने के बाद एक-के-बाद-एक कई ट्वीट कर प्रधानमंत्री 'आत्मनिर्भर भारत' की तर्ज पर 'आत्मनिर्भर बिहार' का नारा दिया। रैलियों में लोगों के 'अभूतपूर्व उत्साह और उमंग' का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि 'बिहार की जनता ने एनडीए की सरकार बनाना तय कर लिया है।'

मोदी ने कहा- हर बिहारी हमेशा से लोकल के लिए वोकल रहा

'आत्मनिर्भर बिहार' का नारा देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसमें कानून का शासन होगा, गरीबों का कल्याण होगा, युवाओं के लिए नए अवसर उपलब्ध कराये जाएंगे और महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी। प्रधानमंत्री के अनुसार हर बिहारी हमेशा से लोकल के लिए वोकल रहा है और उसे केवल अवसर प्रदान करने की जरूरत है।

पीएम मोदी ने बिहार को कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर देने का किया वायदा 

उन्होंने कहा कि यहां के हर जिले में ऐसे उत्पाद है, जिनकी अलग पहचान हैं, जिनमें खाने-पीने की चीजों, फल-सब्जियों लेकर पेंटिंग और हैंडीक्राफ्ट तक शामिल हैं। इन लोकल पहचान वाले उत्पादों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने की जरूरत है और इसके लिए राजग प्रतिबद्ध है। इसके लिए उन्होंने मेगा फूड पार्क, आधुनिक कोल्ड चेन, और एग्रो-प्रोसेसिंग क्लस्टर्स बनाकर बिहार को आधुनिक कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर देने का वायदा किया।

प्रधानमंत्री ने कहा- मुझे बिहार की भूमि जनता की सेवा के लिए और ज्यादा प्रतिबद्ध करती है

दरअसल प्रधानमंत्री ने 23 अक्टूबर को सासाराम से बिहार के नवनिर्माण के संकल्प के साथ पहली चुनावी रैली को संबोधित किया था और उनका अंतिम चुनावी रैली मंगलवार को सहरसा में था। इन रैलियों को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें बिहार की भूमि जनता की सेवा के लिए और ज्यादा प्रतिबद्ध करता है।

पीएम मोदी ने कहा- भ्रष्टाचार विकास का सबसे बड़ा दुश्मन, जो गरीबों का अधिकार छीन लेता है

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार विकास का सबसे बड़ा दुश्मन होता है, जो गरीबों का अधिकार छीन लेता है। जाहिर है उनका इशारा राजद सरकार के दौरान जंगलराज और भ्रष्टाचार की ओर था, जिनमें गरीबों का उनका हक नहीं मिल पा रहा था। राजग सरकार के सुशासन में गरीबों को हक वापस मिला। प्रधानमंत्री ने बताया कि किस तरह उनकी सरकार ने बैंक खातों, आधार और मोबाइल को जोड़कर बिचौलियों को खत्म किया और सरकारी योजनाओं का पैसा सीधे गरीबों तक पहुंचाना सुनिश्चित किया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप