नई दिल्ली, एएनआइ। देशभर में आज राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाया (National Technology Day) जा रहा है। इस खास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय वैज्ञानिकों को सलाम किया है। पीएम ने कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों ने किसी भी चुनौतीपूर्ण स्थिति में डटकर मुकाबला किया है। पीएम ने कहा कि पिछले साल भी कोरोना की जंग में भारतीय वैज्ञानिकों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। बता दें कि राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 1998 में राजस्थान के पोखरण में आयोजित परमाणु परीक्षणों की वर्षगांठ का प्रतीक है। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस-2021 की थीम "सतत भविष्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी है। 

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर हम अपने वैज्ञानिकों और प्रौद्योगिकी के प्रति कड़ी मेहनत और दृढ़ता को सलाम करते हैं। 'हम गर्व के साथ 1998 के पोखरण टेस्ट को याद करते हैं, जिसने भारत के वैज्ञानिकों और तकनीकी प्रगति का प्रदर्शन किया'। आगे पीएम ने कहा कि हर तरह की चुनौतीपूर्ण स्थिति का सामना करते हुए हमारे वैज्ञानिकों ने महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की।

जानकारी के लिए बता दें कि वर्ष 1998 में आज के ही दिन पोखरण में सफल परमाणु परीक्षण करने के बाद भारत यह उपलब्धि हासिल कर परमाणु क्लब में शामिल होने वाला छठा देश बना था। भारत ने आज ही के दिन स्वदेश निर्मित हंस-3 एयरक्राफ्ट और शॉर्ट-रेंज मिसाइल ‘त्रिशूल’ का भी सफल परीक्षण किया था, जो कि देश  के लिए एक कीर्तिमान साबित हुआ।

कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा भारत

बता दें कि एस वक्त कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रही है। पिछले 24 घंटों में 3,29,942 नए कोरोना के मामलों के साथ 3876 लोगों  की मौत हो गई। मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान 3,56,082 संक्रमित स्वस्थ हो अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए। वहीं इस अवधि में कोरोना वायरस की 25,03,756 वैक्सीन लोगों को लगाई गई। इसके बाद देश में अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा 2,29,92,517 हो गया और मरने वालों की कुल संख्या  2,49,992 हो गई है।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप