नई दिल्ली, प्रेट्र। केंद्र सरकार चिप जैसे आधुनिक सुरक्षा फीचर वाले ई-पासपोर्ट जारी करने की योजना पर काम कर रही है। पासपोर्ट पुस्तिका में लगने वाले इस चिप में आवेदक का निजी ब्योरा स्टोर होगा।

राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में विदेश राज्यमंत्री वी. मुरलीधरन ने बताया कि अगर कोई इस चिप से छेड़छाड़ करेगा तो सिस्टम उसकी पहचान कर लेगा और पासपोर्ट का सत्यापन नहीं हो सकेगा। उन्होंने बताया कि सरकार ने इंडिया सिक्योरिटी प्रेस (आइएसपी) को ई-पासपोर्ट उत्पादन के लिए इलेक्ट्रॉनिक कांटेक्टलेस इनलेस खरीदने की मंजूरी प्रदान कर दी है।

इस संबंध में आइएसपी को त्रिस्तरीय वैश्विक टेंडर जारी करने के लिए भी अधिकृत कर दिया गया है। मुरलीधरन ने बताया कि आइएसपी द्वारा खरीद प्रक्रिया पूरी कर लेने के बाद ही ई-पासपोर्ट का उत्पादन शुरू होगा। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि 2017 में 1.08 करोड़ और 2018 में 1.12 करोड़ पासपोर्ट जारी किए गए।

जानिए- E-Passport के बारे में

ई-पासपोर्ट की चिप में आपका नाम, पता, डेट ऑफ बर्थ जैसी जानकारियां तो होंगी ही साथ में आपका फिंगरप्रिंट्स, आई-रेटिना और आपके फेस की तस्वीर जैसी कई यूनिक चीजों इंस्टॉल होंगी। इन तरीकों से आपकी पहचान कोई बदल नहीं पाएगा। जिस तरह से आधार कार्ड में फिंगरप्रिंट्स, आई-रेटिना और तस्वीरों के जरिए पहचान की जाती है ठीक उसी तरह पासपोर्ट में भी होगा।

ई-पासपोर्ट से बंद होंगे सभी फ्राड

ई-पासपोर्ट के आने के बाद पासपोर्ट संबंधी होने वाले सभी फ्रॉड बंद हो जाएंगे। शातिर से शातिर फ्रॉड के लिए भी किसी के पासपोर्ट का गलत इस्तेमाल करना काफी मुश्किल हो जाएगा। इसके साथ-साथ यूज़र्स के लिए भी काफी आसानी हो जाएगी। ऐसा कई बार होता है कि आपके पासपोर्ट पर लिखी जानकारी साफ दिखाई नहीं देती है और उस वक्त आपको चेकिंग कराने में काफी वक्त लग जाता है।

यूज़र्स की सभी निजी जानकारियां रहेंगी सिक्योर 

ई-पासपोर्ट के आने के बाद किसी भी यूज़र्स को ऐसी कोई समस्या नहीं होगी क्योंकि इलेक्ट्रोनिक चिप के अंदर यूज़र्स की सभी निजी जानकारियां काफी सिक्योर रहेंगी। ऐसे में जांचकर्ता भी सिर्फ चिप की जांच करेंगे, जिसमें उन्हें सबकुछ साफ-साफ नजर आ जाएगा और आपके पासपोर्ट की चेकिंग भी काफी जल्दी हो जाएगी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjeev Tiwari