नई दिल्ली, एजेंसी। PFI का भंडाफोड़ करने वाली NIA की कार्रवाई को 'आपरेशन आक्टोपस' नाम दिया गया। इसके तह 22 सितंबर को NIA ने 11 राज्यों में PFI के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस दौरान 106 PFI सदस्यों को गिरफ्तार किया गया । यह छापेमारी NIA, ED व राज्य पुलिस की संयुक्त कार्रवाई थी।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency, NIA) ने इस मामले में अपनी रिपोर्ट जारी की जिसमें  दावा किया है कि इस्लामिक आतंकी संगठन पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (PFI) के देशभर में फैले आफिस पर छापेमारी की गई। इस दौरान जब्त कागजातों से आपत्तिजनक सामग्री मिली है। NIA की विशेष अदालत के समक्ष पेश की गई रिमांड रिपोर्ट में 10 लोगों की हिरासत की मांग की गई है। एजेंसी ने यह भी आरोप लगाया कि कट्टर इस्लामिक संगठन ने युवाओं को आतंकी गुट में शामिल होने के लिए भड़काया। इन आतंकी गुटों में लश्कर-ए-तैयबा ( Lashkar-e-Taiba) और इस्लामिक स्टेट आफ इराक एंड सीरिया (ISIS) भी शामिल हैं।

आपरेशन आक्टोपस

NIA ने कहा है कि PFI के परिसरों में छापेमारी को आपरेशन आक्टोपस नाम दिया गया था जिसमें कुल 300 अधिकारी शामिल थे। इन्हें छापेमारी के दौरान शांत रहने को कहा गया था। इस आपरेशन में PFI के 100 सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया था और करीब 200 को हिरासत में लिया गया था। ED व NIA के अनुसार PFI के सदस्य देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त थे। NIA द्वारा दर्ज किए गए पांच मामलों के बाद यह कार्रवाई की गई थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, ये सभी टेरर फंडिंग, युवाओं के लिए ट्रेनिंग कैंप और लोगों के बीच कट्टरता फैलाने का काम हो रहा हैं। जांच एजेंसी ने कहा कि कालेज प्रोफेसर का हाथ काटने जैसा आपराधिक हिंसक कार्रवाईयों को PFI द्वारा अंजाम दिया जाता रहा है।

महाराष्ट्र में इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट ने जारी किया था अलर्ट

महाराष्ट्र में इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट ने अलर्ट जारी किया था जिसके मुताबिक पापुलर फ्रंट आफ इंडिया एक ट्रेनिंग प्रोग्राम चल रहा है। जिसके लिए औरंगाबाद और जालना में इस संगठन में सदस्‍यों की भर्ती की जा रही है।

पुणे में करीब 70 पीएफआइ कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज, NIA की छापेमारी के खिलाफ कर रहे थे प्रदर्शन

NIA ने की केरल में की सबसे अधिक गिरफ्तारी 

 इस छापेमारी के दौरान सबसे अधिक गिरफ्तारियां केरल में की गई। यहां 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया वहीं महाराष्ट्र और कर्नाटक में 20-20, तमिलनाडु में 10, असम में 9, उत्तर प्रदेश में 8, आंध्र प्रदेश में 5, मध्य प्रदेश में 4, पुडुचेरी और दिल्ली में तीन-तीन और राजस्थान में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया।

PFI पर छापे के खिलाफ विरोध मार्च निकालेगी VCK; NIA और ED की कार्रवाई में कई नेता हुए थे गिरफ्तार

Edited By: Monika Minal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट