मुंबई, प्रेट्र। शीना बोरा हत्याकांड में आरोपी पीटर मुखर्जी ने मंगलवार को सीबीआइ की विशेष अदालत में एक अर्जी दाखिल की। इसमें उसने वर्ली स्थित बैंक का लॉकर इस्तेमाल करने की अनुमति देने की मांग की है। उसकी दलील है कि पत्नी इंद्राणी मुखर्जी के साथ तलाक की जो शर्ते तय हुई हैं, उसके मुताबिक उसे उनके आभूषण देने हैं। चूंकि ये जेवर लॉकर में बंद हैं, ऐसी स्थिति में उसे इसके इस्तेमाल की अनुमति दी जाए। इस संबंध में सीबीआइ के वकील भारत बदामी ने बताया कि जांच एजेंसी 30 नवंबर को पीटर की याचिका पर जवाब देगी।

मामले की सुनवाई कर रहे विशेष सीबीआइ जज जेसी जगदाले की अदालत में याचिका दाखिल की गई है। इसमें कहा गया है कि पीटर और इंद्राणी ने सितंबर में हिंदू विवाह अधिनियम के तहत बांद्रा की पारिवारिक अदालत में तलाक की अर्जी दाखिल की थी।

तलाक की शर्तो के मुताबिक दोनों को स्वयं अपने विवाद का निपटारा करने के साथ ही एक-दूसरे का सामान लौटाना है। याचिका में कहा गया है कि वर्ली स्थित एक बैंक के लॉकर में इंद्राणी के कुछ आभूषण रखे हैं। जिसे पीटर को लौटाने हैं। पीटर ने अदालत से अनुरोध किया है कि वह जेल अधिकारियों को बैंक ले जाने और अपने लॉकर से इंद्राणी के आभूषण निकालने का निर्देश दे।

क्या है मामला

अभियोजन पक्ष के मुताबिक, अप्रैल 2012 में मुंबई में एक कार में इंद्राणी ने अपने पूर्व पति संजीव खन्ना की मदद से बेटी शीना बोरा (24) की हत्या कर दी थी। अगस्त 2015 में मामला प्रकाश में आने के बाद इंद्राणी और संजीव खन्ना को गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में शीना की हत्या के षड्यंत्र में पीटर मुखर्जी को भी गिरफ्तार कर लिया गया था। फिलहाल पीटर आर्थर रोड जेल में बंद है।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप