नई दिल्ली। सरकार का कहना है कि पठानकोट एयरबेस पर हमला करने वाले आतंकवादियों को पाकिस्तान की सरकार का समर्थन हासिल था। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार को राज्यसभा में बताया कि हमलावर आतंकी गैर सरकारी जरूरी थे, लेकिन वारदात को अंजाम देने के लिए उन्हें पाकिस्तानी एजेंसियों से खुली मदद मिली थी। उन्होंने उच्च सदन को यह भी जानकारी दी कि एयरबेस पर हमले की खुफिया जानकारी सरकार को पहले ही मिल गई थी।

पढ़ें: पठानकोट पर पाकिस्तानी जांच दल जल्द भारत आएगा

पर्रिकर ने कहा, 'विस्तृत जानकारियां राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की रिपोर्ट से मिलेंगी। लेकिन यह तय है कि हमले में आतंकवादी शामिल थे। उन्हें निश्चित रूप से पाकिस्तानी सरकार का खुला समर्थन हासिल था। क्योंकि ऐसे तत्व बिना सरकारी समर्थन के इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दे ही नहीं सकते हैं।'

दरअसल, उच्च सदन में शिवसेना सदस्य संजय राउत ने पूरक प्रश्न पूछा था कि क्या पठानकोट पर हमला सिर्फ आतंकियों ने किया या इसे पाकिस्तानी सेना का भी समर्थन प्राप्त था? इसी के जवाब में पर्रिकर ने उक्त जवाब दिया।

पढ़ें: पाक में इसी सप्ताह पूरी होगी पठानकोट हमले की जांच

पठानकोट जैसे महत्वपूर्ण एयरबेस को सीमा से दूर स्थानांतरित करने के सवाल पर पर्रिकर ने कहा, 'देश में कई एयरबेस रणनीतिक रूप से स्थित हैं। पठानकोट भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह सीमा से सटा हुआ है और वहां बड़े पैमाने पर निवेश हो रहे हैं। ऐसे में उसको स्थानांतरित करना काफी महंगा होगा।'

Edited By: kishor joshi