पुंछ, एएनआइ। भारतीय सेना ने पाकिस्तान की ओर से एक और नापाक हमले को नाकाम किया है। एलओसी के पास पुंछ सेक्टर में सेना ने एक ग्रेनेड हमले को नाकाम किया है। भारतीय सेना के जवानों ने दिलेरी दिखाते हुए पुंछ जिले के बालाकोट गांव में एक जिंदा मोर्टार को नष्ट किया। कथित तौर पर ये मोर्टार पाकिस्तानी रेंजर्स की ओर से दागे गए थे।  भारतीय सेना के जवानों ने अपनी जान जोखिम में डालते हुए इस मोर्टार को नष्ट किया।यह ग्रेनेड आज(14 सितंबर) को मेंढर सब-डिवीजन के बालाकोट गांव के पास जिंदा पड़ा मिला था।

सेना के एक अधिकारी ने कहा कि बड़े जोखिम के साथ भारतीय सेना की एक टीम ने गांव से इस जिंदा बम को खोदकर निकाला और फिर उसे सुरक्षित जगह पर ले जाकर नष्ट किया। इस ऑपरेशन को सेना ने बड़ी सूझबूझ और तेजी से अंजाम दिया, जिससे जान-माल का कोई नहीं नुकसान हुआ और ना ही किसी तरह की कोई क्षति हुई है।

भारतीय सेना ने सीमा पर तेजी बढ़ाई
जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। इस बौखलाहट में  पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और उनकी सरकार की ओर से लगातार भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने की धमकियां दी जा रही हैं। पाकिस्तान की ओर से युद्ध के इन्हीं प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष खतरों और पाकिस्तान के आक्रामक रुख को देखते हुए भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास अपनी तैनाती में और तेजी ला दी है।

शनिवार को सेना के उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने एलओसी पर पाकिस्तान से संभावित हमले के मद्देनजर सुरक्षा तैयारियों की समीक्षा की।इससे पहले, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने भी नियंत्रण रेखा पर भारत की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए घाटी का दौरा किया था।

2050 से अधिक बार सीजफायर उल्लंघन
पाकिस्तान, एलओसी पर लगातार युद्धविराम (सीजफायर) उल्लंघन कर रहा है। भारत के विदेश मंत्रालय ने बताया कि पाकिस्तान ने इस साल सीमा पर अबतक 2050 से अधिक बार संघर्ष विराम(सीजफायर) उल्लंघन किया है। सीजफायर उल्लंघन के दौरान गोलीबारी में भारत के 21 जवान शहीद हुए हैं। इन खबरों के बीच पाकिस्तान भारत के साथ सीमा पर अतिरिक्त बलों को भेज रहा है।

यह भी पढ़ें: सीमा पर बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, इस साल किया 2050 से अधिक बार सीजफायर उल्लंघन

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के आक्रामक रुख के बाद LoC पर सेना की तैनाती तेज; भारत ने चौकियों पर बढ़ाई सुरक्षा

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप