नई दिल्‍ली/वाशिंगटन (जेएनएन)। अमेरिकी सांसद एड रॉयस ने पाकिस्‍तान से वहां जारी करीब 600 देवबंदी मदरसों को तुरंत बंद करने को कहा है। सांसद ने सीधेतौर पर पाकिस्‍तान पर आरोप लगाया है कि इन मदरसों में शिक्षा के नाम पर आतंकी ट्रेनिंग दी जाती है। रॉयस ने कहा कि उनके विचार में पाकिस्‍तान को वहां चल रहे देवबंदी मदरसों को बंद करने के बाबत बेहद गंभीरता से विचार करना चाहिए।

उनका कहना था कि इन मदरसों में आने वालों को गुमराह किया जाता है और आतंकी बनाया जाता है। वह यह नहीं सोच पाते हैं कि वह क्‍या कर रहे हैं और क्‍यों कर रहे हैं। वह इस बारे में भी नहीं सोच पाते हैं कि वह जिहाद को लेकर उनसे सवाल करें या फिर उनके कहने के मुताबिक बंदूक उठाएं। उन्‍होंने यह विचार विवेकानंद इंटरनेश्‍ानल फाउंडेशन के तहत हुए एक कार्यक्रम में दिए।

अपने संबोधन में उन्‍होंने न सिर्फ मदरसों को बंद करने की पुरजोर वकालत की बल्कि यह भी कहा कि पाकिस्‍तान की सरकार को वहां फलफूल रहे आतंकी संगठन लश्‍कर ए तैयबा को खत्‍म करने के लिए कड़े उपाय करने चाहिए। रॉयस ने कहा कि पाकिस्‍तान यदि ऐसा नहीं करता है और आतंकियों के आकाओं के प्रति लचर दृष्टिकोण बनाए रहता है तो यह न्‍याय और कानून दोनों पर ही हमला होगा। ऐसा होने पर अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट अपने तरीके से इसको लागू करवाएगी।

इस दौरान उन्‍होंने भारत और अमेरिका के बीच रिश्‍तों को और अधिक मजबूत करने की भी बात कही। उनका कहना था कि दोनों देशों के बीच करीब 500 बिलियन यूएस डॉलर का व्‍यापार है, जिसे दोनों देशों के बीच हुए करार से और अधिक किया जा सकता है। साथ ही उन्‍होंने अमेरिका में बसे भारतीयों के सुनहरे भविष्‍य की बात करते हुए कहा है कि यहां बसे भारतीयों में लगभग आधे पोस्‍ट ग्रेजुएट हैं, उनके सुनहरे भविष्‍य के द्वार खोलती है।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस