जागरण न्यूज नेटवर्क, नई दिल्लीः पाकिस्तान केवल मजहबी कट्टरता को खुलकर बढ़ावा ही नहीं दे रहा, बल्कि उसके खिलाफ बोलने वालों की राह का रोड़ा भी बन रहा है। इसका प्रमाण बीते दिनों तब फिर मिला जब उसने एक भारतीय यू ट्यूबर जफर हेरेटिक के यू ट्यूब चैनल को ब्लाक कर दिया। जफर मूलतः इलाहाबाद के रहने वाले हैं और पेशे से कंप्यूटर इंजीनियर हैं। वह जफर हेरेटिक Zafar Heretic  नाम से अपना यू ट्यूब चैनल चलाते हैं और कट्टर मजहबी मान्यताओं, परंपराओं और कुरीतियों एवं अंधविश्वासों के खिलाफ बोलते हैं। वह मजहब की नैतिकता पर सवाल उठाते हैं और खुले तौर पर कहते हैं कि आखिर औरतों को गुलाम बनाकर उन्हें कपड़ा और खाना देने जैसी बातों को इंसानियत कैसे कहा जा सकता है? वह मत-मजहबों को खुदा, गॉड, ईश्वर की देन होने की धारणा को भी खारिज करते हैं।

उनकी तार्किक और तथ्यसम्मत बातों के कारण हजारों लोग और खासकर युवा उन्हें यू ट्यूब पर सुनते हैं। इनमें भारतीय, बांग्लादेशी, नेपाली और पाकिस्तानी भी हैं। वह अपने यू ट्यूब चैनल पर लोगों से संवाद भी करते हैं और इस क्रम में उनके सवालों के जवाब भी देते हैं। जफर खुद को नास्तिक और अनीश्वरवादी कहते हैं। उनका कहना है कि वह अपने यू ट्यूब के जरिये मजहब और इंसानियत के फर्क को बताने का काम कर रहे हैं। उनका कहना है कि जाकिर नाइक जैसे लोग न केवल जहर घोल रहे हैं, बल्कि मानवता के लिए मुश्किलें पैदा कर रहे हैं।

पाकिस्तान द्वारा उनके यू ट्यूब चैनल के आधे से ज्यादा वीडियो ब्लाक किए जाने पर जफर का कहना है कि वहां का शासन-प्रशासन यह नहीं चाहता कि लोग मजहब के नशे से बाहर निकलें और मजहबी कट्टरता से मुक्त होकर तरक्की की राह पर चलें। जफर के मुताबिक पाकिस्तान उनके वीडियो ब्लाक कर सकता है,लेकिन उनका हौसला नहीं। पाकिस्तान की इस हरकत की काट के लिए उऩ्होंने http://zafarheretic.com नाम से वेबसाइट बनाई है। वह सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर Instagram/ZafarHeretic, Facebook/ZafarHeretic, Twitter/@ZafarHeretic भी मौजूद हैं।

यह पहली बार नहीं है, जब पाकिस्तान ने मजहबी कट्टरता (religious fundamentalism) के खिलाफ बोलने वालों के यू ट्यूब चैनल ब्लाक किए हों। वह ऐसा ही काम पाकिस्तानी मूल के यू ट्वयूबरों- गालिब कमाल (Ghalib kamal) हारिस सुल्तान (Harris Sultan) के साथ भी कर चुका है। ज्ञात हो कि पाकिस्तान, बांग्लादेश के साथ-साथ भारत में ऐसे यूट्यूबर बढ़ रहे हैं, जो मजहबी कट्टरता के खिलाफ खुलकर बोलते हैं। ये खुद को नास्तिक, अनीश्वरवादी कहते हैं। इनमें से कुछ का विवरण इस यू ट्यूब चैनल पर है-https://www.youtube.com/watch?v=piHRe7HbcPE

पाकिस्तान भले ही मजहबी कट्टरता को खाद-पानी देने का काम कर रहा हो, लेकिन इंटरनेट पर जफर हेरेटिक,शकील प्रेम, गालिब कमाल, हारिस सुल्तान जैसे अनीश्वरवादी यूट्यूबरों के समर्थक तेजी से बढ़ रहे हैं। पाकिस्तान इसी से घबराया हुआ है। उसकी तमाम बंदिशों के बाद भी खुद पाकिस्तान में मजहबी कट्टरता के खिलाफ बोलने वाले यू ट्यूबर बढ़ रहे हैं। हालांकि वे जखिम के भय से अपनी पहचान छिपाकर ही अपने यू ट्यूब चैनल चला रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस