नई दिल्ली। अलगाववादी नेता और आतंकी मसर्रत आलम की रिहाई के बाद अब उसका पाकिस्तान के लिए समर्थन जम्मू-कश्मीर के साथ-साथ पूरे देश की राजनीति गरमाए हुए है। भारत का धुरविरोदी पड़ोसी देश पाकिस्तान भी अब इस मसले में शामिल हो गया है।

पाकिस्तान ने मसर्रत आलम का खुलकर समर्थन किया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता तस्नीम अस्लम ने जम्मू-कश्मीर में भारत की नितियों को बकवास बताते हुए मसर्रत आलम द्वारा भारत में पाकिस्तान का झंडा फहराने की हरकत का खुलकर समर्थन किया है।

इतना ही नहीं हाल ही में लाहौर हाईकोर्ट से रिहा हुआ मुंबई 26/11 हमले का आरोपी आतंकी हाफिज सईद भी मसर्रत आलम के समर्थन में है। हाफिज सईद ने कहा है कि मसर्रत आलम ने भारत में नहीं.. जम्मू-कश्मीर में झंडा फहराया है.. पाकिस्तान में झंडा फहराया है। हाफिज सईद ने कहा कि वो हमेशा हुर्रियत नेताओं के साथ है।

कब होगी मसर्रत की गिरफ्तारी

मसर्रत आलम के गिरफ्तारी का फरमान काफी समय पहले ही जारी कर दिया गया है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने खुद जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद से मसर्रत की गिरफ्तारी के सिलसिले में बात की। मसर्रत की इस हरकत पर हर जगह हो रहे विरोध पर राजनाथ सिंह ने मसर्रत के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की बात कही थी। माना जा रहा था कि शाम तक मसर्रत की गिरफ्तारी हो जाएगी। लेकिन मसर्रत कहां है.. उसकी गिरफ्तारी के लिए क्या प्रयास किए जा रहे हैं.. कब होगी मसर्रत की गिरफ्तारी? ये सवाल.. सवाल ही बने हुए हैं।

मसर्रत ने फहराया पाकिस्तान का झंडा, लगाए भारत विरोधी नारे

अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी और उनके समर्थकों ने नई दिल्ली से लौटने पर बीते बुधवार को श्रीनगर में रैली का आयोजन किया। इस रैली में मसरत आलम भी शामिल हुआ। इस दौरान अलगाववादी नेता मसरत ने पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए। गिलानी की इस रैली में पाकिस्तानी झंडे भी लहराए गए।
पाकिस्तान झंडा लहराने और भड़काऊ नारे लगाने पर मसरत, गिलानी, बशीर अहमद भट्ट समेत कई लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

पढ़ेंः कभी भी हो सकती है मसर्रत की गिरफ्तारी

Edited By: Gunateet Ojha