मुंबई, प्रेट्र। कर्ज संकट से जूझ रही निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज को उसके पायलट पहली अप्रैल से तगड़ा झटका देने की तैयारी में हैं। शुक्रवार तक बैंकों ने कंपनी में पूंजी निवेश नहीं किया, जिसके बाद पायलटों के संगठन ने कहा कि कंपनी के 1,000 से ज्यादा पायलट पहली अप्रैल से विमान नहीं उड़ाने के अपने पुराने फैसले पर कायम हैं।

नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) ने पिछले सप्ताह कहा था कि अगर कंपनी के पायलटों का बकाया भुगतान नहीं हुआ और 31 मार्च तक पुनरुद्धार योजना स्पष्ट नहीं हुई, तो पायलट पहली अप्रैल से विमान नहीं उड़ाएंगे। एनएजी का दावा है कि वह जेट एयरवेज के 1,000 से ज्यादा पायलटों का प्रतिनिधित्व करता है। इस बीच, जेट के 200 से ज्यादा पायलटों ने कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) को पत्र लिखकर बकाये वेतन को लेकर गंभीर चिंता जताई है। सूत्रों के मुताबिक बकाया भुगतान को लेकर जेट के पायलट अब कानूनी कदम उठाने के बारे में सोच रहे हैं।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप