भोपाल, जेएनएन। मध्य प्रदेश में लोक सेवा आयोग (पीएससी) से चयनित उच्च शिक्षा विभाग के 833 असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति के आदेश राज्य शासन ने शुक्रवार को जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही असिस्टेंट प्रोफेसरों ने भोपाल में पांच दिनों से चल रहा धरना स्थगित करने की घोषणा कर दी।

 राज्य स्तरीय धरना हुआ स्थगित

असिस्टेंट प्रोफेसर संघ के अध्यक्ष डॉ. प्रकाश खातरकर ने बताया कि पीएससी से उच्च शिक्षा विभाग के सरकारी कॉलजों के लिए करीब 2700 असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति हुई है। शासन ने 833 असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति आदेश जारी कर दिए हैं। साथ ही आश्वासन दिया है कि जल्द ही शेष की नियुक्ति आदेश भी जारी कर दिए जाएंगे। अभी राज्य स्तरीय धरना स्थगित करने का निर्णय लिया गया है, लेकिन नियुक्ति आदेश मिलने तक जिला और संभाग स्तर पर यह धरना जारी रहेगा।

आदेश कि‍ए गए जारी

मध्‍य प्रदेश के उच्‍च शिक्षा विभाग के मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि असिस्टेंट प्रोफेसरों के नियुक्ति आदेश जारी कर दिए गए हैं। जल्द ही बचे हुए नियुक्ति आदेश भी जारी कर देंगे। इसकी प्रक्रिया चल रही है।

सीएम ने दिया आश्‍वासन 

पिछले दिनों एमपी के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित सहायक प्राध्यापकों को नियुक्ति पत्र जारी के निर्देश दिए थे। उन्होंने कहा कि जिन लोगों का चयन एमपीपीएससी के माध्यम से हुआ है उन्हें नियुक्ति प्रदान करने में संशय की कोई गुंजाइश नहीं है। जो अतिथि विद्वान पूर्व से कार्यरत हैं उन्हें भी यथावत रखा जाएगा।

इससे पहले मप्र लोक सेवा आयोग (एमपी पीएससी) से चयनित सहायक प्राध्यापक राजधानी के नीलम पार्क में क्रमिक भूख हड़ताल पर डटे रहे। मंगलवार को करीब 32 सहायक प्राध्यापक भूख हड़ताल में शामिल हुए। इस मामले में 300 से अधिक सहायक प्राध्यापकों ने मुंडन कराया था। चयनित सहायक प्राध्यापकों ने शाम को भोपाल गैस त्रासदी में मृत लोगों को कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि दी।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस