चेन्नई, एएनआइ। ऑपरेशन समुद्रसेतु के तहत मंगलवार को तकरीबन 700 भारतीयों को श्रीलंका से वापस लाया गया है। अपने घर वापस लौटने की खुशी इन लोगों के चेहरे पर साफ देखी जा सकती है। भारत सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम से ये सभी लोग काफी खुश हैं।

मंगलवार को आइएनएस जलाश्व 685 भारतीयों को लेकर तमिलनाडु के तोतिकोरिन स्थित वी ओ चिदंबरम पोर्ट पहुंच गया है। सोमवार को आइएनएस जलाश्व श्रीलंका के कोलंबो पहुंचा था और आज भारतीय नागरिकों को लेकर वापस लौटा है। एक यात्री ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा, "अपने घर वापस पहुंचकर बहुत अच्छा लग रहा है। यह हमारी याजगार ट्रिप थी। हमें देश वापस लाने के लिए हम भारत सरकार के शुक्रगुजार हैं।"

गौरतलब है कि करोना वायरस के प्रकोप के कारण लागू लॉकडाउन के चलते कई भारतीय नागरिक विदेशों में फंसे हुए हैं। अब इन लोगों को फ्लाइट्स और समुद्र के जरिए अपने देश वापस लाया जा रहा है। भारत सरकार द्वारा समुद्र के जरिए नागरिकों को वापस लाने के लिए ऑपरेशन समुद्रसेतु चलाया गया है और 1 जून से इसका दूसरा चरण शुरू हो चुका है।  ऑपरेशन के पिछले चरण में नौसेना द्वारा 1,488 भारतीय नागरिकों को माले से कोच्चि लाया गया था। 

बता दें कि लगभग 800 किलोमीटर की दूरी में फैले 200 द्वीपों में भारतीय लोग बसे हुए हैं, जिन्हें 'मिशन समुद्र सेतु' के तहत अपने देश वापस लाया जा रहा है। विदेशों से आने वाले लोगों की पूरी स्‍वास्‍थ्‍य जांच की जा रही है। साथ ही स्‍वदेश लौटने पर इन्‍हें क्‍वारंटाइन केंद्रों में भी रखा जा रहा है। वहीं लोगों को लाने से पहले उनकी स्क्रीनिंग और अन्य जरूरी जांच के बाद ही उन्हें शिप पर चढ़ाया जा रहा है। नौसेना की तरफ से कहा गया है कि श्रीलंका और मालदीव में भारतीय मिशन उन भारतीय नागरिकों की सूची तैयार कर रहे हैं, जिन्हें भारत वापस लाया जाएगा।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस