जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। देश में प्याज की फसल के खराब होने और उत्पादन घट जाने के अनुमान को देखते हुए सरकार ने आपूर्ति बढ़ाने के लिए विदेशों से प्याज मंगाने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में विदेशों से 1.2 लाख टन प्याज के आयात को हरी झंडी दी गई।

मानसून की भारी बारिश से हुआ प्याज की फसल को नुकसान

प्याज उत्पादक राज्यों में खरीफ सीजन की फसल को लौटते मानसून की भारी बारिश से जबर्दस्त नुकसान हुआ है। इसके चलते घरेलू सब्जी बाजारों में प्याज की कीमतों में भारी उछाल आ गया है। देश के महानगरों में प्याज का मूल्य 60 से 80 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया। प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए सरकार ने घरेलू एजेंसी नैफेड के बफर स्टॉक से राज्यों को रियायती दरों पर प्याज बेची जा रही है, लेकिन आने वाले दिनों में प्याज की जरूरत को देखते हुए सरकार ने प्याज उत्पादक विभिन्न देशों से आयात करने का फैसला किया है।

प्याज आयात की सिफारिश

प्याज की मांग और आपूर्ति में संतुलन बनाये रखने और प्याज की मंहगाई पर काबू पाने के लिए कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता वाली केंद्रीय मूल्य निगरानी कमेटी ने भी प्याज आयात की सिफारिश की थी। इसी के मद्देनजर अफगानिस्तान, टर्की, मिस्त्र और ईरान समेत सभी प्याज उत्पादक देशों में स्थित दूतावासों को जल्द से जल्द सौदे करने के लिए सतर्क कर दिया गया है। प्याज आयात के लिए निर्धारित शर्तो में कई तरह की ढील दे दी गई है, जिसमें फाइटो सैनिटरी प्रावधान प्रमुख है। इस प्रावधान के चलते भारत में जिंसों के आयात में बहुत विलंब हो जाता है। इसके लचर हो जाने से आयातक कंपनियां सुरक्षा जांच घरेलू बंदरगाहों पर करा सकेंगी, जिससे समय बचेगा। सरकारी एजेंसी एमएमटीसी ने दो हजार टन प्याज के लिए पहले ही वैश्विक टेंडर जारी कर दिया है।

सरकारी कंपनियां विदेशों में तलाश रही हैं प्याज

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक घरेलू बाजारों में रोजाना 300 टन प्याज की आवश्यकता पड़ती है। सरकारी कंपनियां दुबई समेत खाड़ी के अन्य देशों के बाजारों में प्याज तलाश रही हैं। निजी प्रतिष्ठानों को प्याज आयात करने के लिए 30 नवंबर तक की छूट दी गई है। माना जा रहा है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल के फैसले के बाद इस तारीख को और आगे बढ़ाया जा सकता है। इधर, घरेलू बाजारों में उत्तरी क्षेत्र की प्रमुख उत्पादक मंडी अलवर में प्याज की आपूर्ति हो रही है। दूसरे शहरों में प्याज की आपूर्ति करने के लिए नैफेड लगातार खरीद कर रहा है।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस