कोयंबटूर (एजेंसी)। पांच साल पहले हादसे में अपनी दोनों आंखों की रोशनी गंवाने वाले पीड़ित को बीमा कंपनी ने एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया है। मुआवजे का चेक मुख्य जिला जज ने उसकी पत्नी को सौंप दिया है।

के. जयप्रकाश भूपति एक डाइंग कंपनी में बतौर मैनेजर काम करते थे। मार्च 2013 में हादसे वाले दिन वह अपनी पत्नी के साथ मोटर साइकिल से कहीं जा रहे थे, तभी विपरीत दिशा से आ रहे एक दूसरे दोपहिया वाहन से उनकी टक्कर हो गई। हादसे के कारण उनकी दोनों आंखों की रोशनी चली गई। उन्होंने 2013 में ही तिरपुर की जिला अदालत में मुआवजे के लिए मुकदमा दायर किया।

करीब पांच साल चली कानूनी लड़ाई के बाद मुकदमा लोक अदालत पहुंचा, जहां दोनों पक्ष आपसी सुलह के जरिए मामला सुलझाने को तैयार हो गए। बीमा कंपनी की ओर से एक करोड़ रुपये के मुआवजे की पेशकश की गई जिसे दंपती ने स्वीकार कर लिया। 

Posted By: Arti Yadav