जगदलपुर, जेएनएन। छत्तीसगढ़ में बस्तर जिले के बास्तानार ब्लाक के ग्राम पंचायत किलेपाल नंबर तीन में किराए के मकान में निवासरत मूलत: रायगढ़ निवासी व बास्तानार हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य भागीरथी योगरे (39) की शनिवार की रात अस्पताल में कोरोना से निधन हो गया। वहीं उनकी पत्नी संतोषी योगरे (35) ने घर में दम तोड़ दिया। वे भी संक्रमित थीं। इससे मदर्स-डे के दिन उनके दोनों मासूम बच्चों के सिर से माता-पिता का साया उठ गया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र किलेपाल के चिकित्सक डा. देवप्रताप ने बताया कि बीते सोमवार को भागीरथी की कोरोना जांच हुई थी। लक्षण ज्यादा नहीं थे, इसलिए उन्हें होम आइसोलेशन पर रखा गया था। सात मई को उनका और संतोषी की आरटीपीसीआर जांच पाजिटिव आई।

भागीरथी को सांस लेने से तकलीफ होने पर सात मई को डिमरापाल मेडिकल कालेज (मेकाज) रेफर कर दिया गया। शनिवार रात 10 बजे वे कोविड सेंटर के बाथरूम में मृत हालत में मिले। रविवार सुबह किलेपाल नंबर तीन में भागीरथी के दोनों बच्चों पल्लवी (पांच वर्ष) और उमेश (दो वर्ष) ने पड़ोसियों को बताया कि उनकी मां उठ नहीं रही है। पड़ोसी ने जाकर देखा तो संतोषी की भी मौत हो गई थी।

प्रभारी एसडीएम कौशल तेंदुलकर ने बताया कि पूरे क्षेत्र को कंटेंनमेंट जोन घोषित करने के बाद सभी की कोरोना जांच की जा रही है। 

महामारी से जूझ रहा है पूरा देश

बता दें कि कोरोना महामारी से छत्तीसगढ़ ही नहीं पूरा देश जूझ रहा है। देश में कोरोना महामारी का कहर तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना की दूसरी लहर बेकाबू होती जा रही है। भारत में लगातार चौथे दिन कोरोना के एक दिन में चार लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। इस दौरान 4 हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 4 लाख 3 हजार 738 मामले सामने आए हैं। इस दौरान 4,092 लोगों की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हुई है।